.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: टुकड़ों में मिली युवती की लाश की गुत्थी कंगन व दोस्त के भाई के बीच उलझी


एक परिवार ने कंगन के आधार पर मृतका को अपने घर की बताया

पुलिस को अभी यकीन नहीं,पुख्ता सबूत यानी कटे हुए सिर की तलाश जारी

आजमगढ़ में जिस लड़की की पांच टुकड़ों में लाश मिली वह कौन है?, आखिर उसकी हत्या किसने और क्यों की। लड़की शादीशुदा थी या कुंवारी, पता करने में पुलिस जुटी है। लड़की के हाथ के कंगन और दोस्त के भाई के एंगल के बीच यह गुत्थी और भी उलझ गई है। आइए जानते हैं किसके क्या हैं दावे और पुलिस क्या कर रही है।
चंद दिनों में देश में हत्या के दो ऐसे मामले आए जिसने सभी को झकझोर दिया है। दिल्ली में प्रेमी ने ही श्रद्धा को 35 टूकड़ों में काट दिया था। 16 नवंबर को ऐसी ही एक लाश आजमगढ़ में मिली। युवती को पांच टुकड़ों में काटकर कुएं में फेंका गया था। लाश का सिर अब तक गायब है।
अखिर यह लड़की है कौन जिसे इतनी बेरहमी से पांच टुकड़ों मे काट दिया गया। उसका सिर कहां हैं। लड़की की हत्या किसने की और क्यों की। पुलिस पता करने को दिन रात एक किए है। लड़की के हाथ में मिले कंगन देखने के बाद एक व्यक्ति ने दावा किया है कि यह उसकी बेटी है। केस में नया एंगल गायब लड़की की दोस्त का भी आ गया है। इससे यह गुत्थी अब और उलझ गई है। ऐसे में पुलिस की चुनौती भी बढ़ गई गई है। आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला।
आजमगढ़ जिले के अहरौला थाना क्षेत्र के पश्चिम पट्टी गांव के पास सड़क किनारे कुएं में 16 नवबंर को एक 22 वर्षीय लड़की की लाश मिली थी। लाश पांच टुकड़ों में थी। शव से सिर गायब था। सिर ढूंढ़ने के लिए कुएं को सुखाया गया लेकिन सिर नहीं मिला। अभी भी पुलिस सिर की तलाश में जुटी है। लाश के कटे हाथ में एक कंगन जरूर मिला था। पुलिस के पास बस यही एक सुराग है।
 लड़की के हाथ में मिले कंगन देखने के बाद एक व्यक्ति ने दावा किया है कि यह उसकी बेटी है। केस में नया एंगल गायब लड़की के दोस्त का भी आ गया है। इससे यह गुत्थी अब और उलझ गई है। ऐसे में पुलिस की चुनौती भी बढ़ गई गई है।
अहरौला पुलिस को जांच के दौरान पता चला कि इसहाकपुर गांव से एक लड़की गायब है। उसकी भी उम्र लगभग 21 वर्ष है। प्रधान के माध्यम से पुलिस ने गायब लड़की के परिवार को शिनाख्त करने के लिए बुलाया। लाश के पास मिला कपड़ा और कंगन को परिवार को दिखाया गया।
इसहाकपुर गांव निवासी परिवार को पुलिस ने लड़की का शव दिखाया। छोटी बहन ने दावा किया कि लाश के हाथ में जो कंगन है वह उसकी बहन का है। कंगन का दूसरा पीस उसके पास है। उसने वह कंगन लोगों को दिखाया भी। साथ ही कपड़े भी बहन के होने का दावा किया।
पांच टुकड़े में मिले शव को अपनी बेटी का बताकर व्यक्ति ने शुक्रवार को पोस्टमार्टम के बाद शव का अंमित संस्कार किया। परिवार के लोग हिंदू रीति रिवाज से उसका क्रिया कर्म भी कर रहे है। घर में मातम छाया है। मृतका के ससुराल के लोग भी उसकेे मायके पहुंच गए है।
पांच टुकड़ों में मिला शव किसका का है यह बात पुलिस बिना ठोस सुबूत के मामने के लिए तैयार नहीं है। पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य अभी परिवार के दावे की पुष्टि नहीं कर रहे हैं। उनका मानना है कि पहचान के लिए सिर का होना जरूरी है। जब तक सिर नहीं मिल जाता लड़की आराधना है नहीं माना जा सकता।
इसहाकपुर गांव निवासी व्यक्ति ने बताया कि इसकी पुत्री बीए तृतीय वर्ष की छात्रा थी। 16 फरवरी 2022 को उसकी शादी अंबेडकरनगर जिले के सोनहू गिरइया बाजार में हुई थी। शादी के पांच दिन बाद वह मायके आ गई थी। अब दोंगा के बाद उसकी विदाई होने वाली थी।
वह जब इंटर में पढ़ती थी तभी से उसकी कढ़ही बसही गांव निवासी एक लड़की से गहरी दोस्ती थी। दोस्त के साथ उसका भाई भी घर आता जाता था। उसकी बेटी कई बार सहेली के घर पर भी रुक जाती थी।
वहीं छोटी बहन के मुताबिक 09 नवंबर को दीदी के मोबाइल पर सहेली के भाई का फोन आया कि भैरव बाबा मंदिर दर्शन के लिए हम और बहन जा रहे हैं तुम भी चलो। इसके बाद वह तैयार हो गई। एक बाइक पर चार लोग नहीं जा सकते इसलिए उसने छोटी बहन को घर पर ही छोड़ दिया। युवक के साथ जाने के बाद वह आज तक वापस नहीं लौटी।
बहन ने बताया कि दीदी ने कहा था एक बजे तक वापस आ जाएगी लेकिन वह नहीं लौटी। परिवार के लोगो को लगा कि वह सहेली के घर रुक गई होगी। 10 नवंबर को जब वह नहीं लौटी तो मोबाइल पर फोन करने पर स्विच आफ मिला। पूछने पर सहेली के परिवार के लोगों ने बताया कि वह उनके घर नहीं आई है। इसके बाद परिवार के लोग उसकी तलाश में जुटे थे। कुएं में लाश मिलने की जानकारी के बाद परिवार के लोग कई बार सहेली के घर गए लेकिन वह घर पर नहीं मिला। उसकी मां ने एक बार फोन पर बात कराई तो वह युवती को साथ ले जाने से इनकार कर दिया जबकि युवती उसके साथ छोटी बहन के सामने गई थी। इसलिए सभी का शक उसी पर है।
परिवार का कहना है कि अगर कुएं में मिली लाश उसकी बेटी की नहीं है तो उसके हाथ में कंगन कहां से पहुंचा। कंगन की एक पीस आज भी उनके पास मौजूद है। कपड़ा भी वही है जो वह पहनकर निकली थी। यह इत्तेफाक नहीं हो सकता कि कंगन और कपड़े दोनों मैच करें।
पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य का कहना है कि 16 नवंबर को कुंए में शव मिला था। शव का सिर नहीं मिला है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। कुछ प्रकरण ऐसे सामने आए है कि लड़की गायब है। अब तक हुलिया के आधार पर शिनाख्त कराई गई है। अब तक सिर नहीं मिला है। सिर मिलने के बाद ही कन्फर्म शिनाख्त हो पाएगी। चुंकि शव को 72 घंटे के अंदर पीएम कराना होता है। इसलिए पीएम कराकर अंतिम संस्कार कराया गया है।
अन्य जनपद में भी पुलिस को सूचित किया गया है। उनसे लापता लोगों के इनपुट मांगे गए है। कुछ जानकारियां मिली है। संयुक्त टीम जांच कर रही है। कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ भी की जा रही है। रहा सवाल कंगन का तो यह हुलिया के हिसाब से शिनाख्त है। हम जल्द ही सिर कोे ढ़ूंढ़ लेंगे। इसके बाद मामले का खुलासा किया जाएगा।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment