.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: आराधना हत्याकांड में शामिल 06 अन्य आरोपी भी गिरफ्तार



पकड़े गए लोगों में मुख्य आरोपी प्रिंस के माता-पिता तथा ननिहाल के लोग

हत्या के बाद कई टुकड़ों में काटी गई थी युवती की लाश

आजमगढ़: जनपद पुलिस के लिए चुनौती रही अहरौला थाना क्षेत्र के पश्चिमपट्टी गांव के समीप कुंए से बरामद कई टुकड़ों में युवती की सिरविहीन लाश की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली तो अब मुख्य आरोपी को इस जघन्य हत्याकांड में प्रोत्साहन देने वालों की दबोचना शुरू किया है। मंगलवार को पुलिस ने आराधना हत्याकांड में शामिल मुख्य आरोपी प्रिंस यादव के माता-पिता तथा ननिहाल से संबंधित छः लोगों को गिरफ्तार कर लिया। इस घटना में शामिल 25000 ईनाम घोषित प्रिंस यादव का ममेरा भाई सर्वेश यादव अभी पुलिस की पकड़ से बाहर बताया गया है।
गौरतलब है कि अहरौला थाना क्षेत्र के पश्चिमपट्टी गांव स्थित कुएं से 22 वर्षीय युवती का कई टुकड़ों में विभक्त शव बरामद किया गया। पुलिस मृतका के सिर की तलाश में जुटी थी जिससे उसकी शिनाख्त की जा सके। पुलिस के लिए सिरदर्द बन चुकी इस वारदात के खुलासा हेतु पुलिस अधीक्षक द्वारा एसपी सिटी एसपी ग्रामीण के नेतृत्व में पुलिस की 5 टीमें गठित की गई थी काफी मशक्कत के बाद सर्विलांस सेल की मदद से पुलिस को कामयाबी हाथ लगी जब इसहाक पुर ग्राम निवासी केदार प्रजापति और उसके पुत्र ने मृतका के हाथ में रहे कंगन एवं रक्षा सूत्र व काले धागे के आधार पर उसकी पहचान आराधना प्रजापति के रूप में की। पूछताछ के दौरान मृतका के परिजनों ने बताया कि बीते 10 नवंबर को आराधना गांव के प्रिंस यादव के साथ घर से निकली थी और फिर वापस नहीं लौटी। बताते हैं कि अराधना और प्रिंस के बीच प्रेम संबंध स्थापित था। प्रिंस कमाने की गरज से विदेश गया था। इसी बीच बीते फरवरी माह में आराधना के परिजनों ने उसकी शादी कहीं दूसरी जगह कर दी। इस बात की जानकारी होने पर प्रिंस वापस घर लौटा और आराधना को अपना बनाने के लिए उस पर दबाव बनाने लगा। आराधना द्वारा इनकार करने पर प्रिंस ने अपने माता पिता और मामा के लड़के, मामा मामी की मदद से उसे रास्ते से हटा देने की योजना बीते 29 अक्टूबर को बना लिया। इसके लिए उसने अपने ममेरे भाई सर्वेश यादव को भी अपनी योजना में शामिल कर लिया। योजना के अनुसार बीते 10 नवंबर को प्रिंस आराधना को धार्मिक स्थल पर घुमाने के बहाने घर से ले गया और उसे लेकर अपने ननिहाल ग्राम तोवां थाना निजामाबाद पहुंचा। योजना के अनुसार उसी दिन शाम को प्रिंस और सर्वेश ने आराधना की गला घोंटकर हत्या कर दी तथा साक्ष्य छुपाने के लिए दोनों ने धारदार हथियार से आराधना के शव को कई टुकड़ों में विभक्त कर दिया। इसके बाद दोनों आरोपी अपने परिजनों की सहमति से शव को ले जाकर अहिरौला क्षेत्र के पश्चिमपट्टी गांव स्थित कुएं में फेंक दिए तथा मृतका के सिर एवं घटना में प्रयुक्त हथियार को कुछ दूरी पर स्थित तालाब में फेंक दिया गया। शव की बरामदगी एवं परिजनों द्वारा मृतका की शिनाख्त के बाद एसपी द्वारा गठित की गई पुलिस की टीमें घटना के हर बिंदु पर ध्यान देते हुए मामले की तफ्तीश में जुट गईं। 2 दिन पूर्व पुलिस ने मुख्य आरोपी प्रिंस यादव पुत्र राजाराम निवासी ग्राम कठही थाना क्षेत्र अहरौला को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए मुख्य आरोपी से की गई पूछताछ के बाद पुलिस अधीक्षक ने इस वारदात में शामिल प्रिंस के ममेरे भाई सर्वेश यादव की गिरफ्तारी के लिए उस पर 25 हजार का ईनाम घोषित कर दिया। इसके बाद पुलिस ने इस घटना में शामिल रहे अन्य लोगों की तलाश शुरू कर दी। मंगलवार को पुलिस ने अहरौला क्षेत्र के केदारपुर पुलिया के समीप मुख्य आरोपी प्रिंस यादव के माता-पिता समेत उसके ननिहाल से संबंधित 06 आरोपियों में राजाराम यादव पुत्र स्व० जंगबहादुर, उसकी पत्नी प्रमिला यादव व पुत्री मंजू यादव निवासी ग्राम कठही थाना अहरौला, रिश्तेदार शीला यादव पत्नी रामा यादव व ममेरी भाभी सुमन पत्नी बृजेश निवासी ग्राम अशरफपुर थाना कप्तानगंज तथा कमलावती पत्नी संतराज निवासी ग्राम तोवां थाना निजामाबाद बताए गए हैं।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment