.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: फर्जी दस्तावेज लगा 98 लाख की धोखाधड़ी में वांछित व्यक्ति गिरफ्तार


फर्जी व्यक्ति को खड़ा कर 20 वर्ष से गुमशुदा व्यक्ति के खाते की रकम उड़ाया गया था

आजमगढ़: शहर कोतवाली पुलिस ने धोखाधड़ी मामले में वांछित चल रहे अभियुक्त को बीती रात बागेश्वर नगर तिराहे से गिरफ्तार कर लिया। अभियुक्त पर फर्जी दस्तावेज लगाकर 20 वर्ष से गुमशुदा व्यक्ति के खाते से 9889823 रूपये की धोखाधड़ी का आरोप है।
जानकारी के अनुसार योगेन्द्र सिंह भूमि अध्याप्ति अमीन कार्यालय द्वारा एक प्रार्थना पत्र शहर कोतवाली में दिया गया जिसमें यह आरोप लगाया कि एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा 20 वर्ष से गुमशुदा व्यक्ति सुग्रीव पुत्र धनई के स्थान पर सुग्रीव बनकर उसके खाते से 98,89,823 रू0 प्राप्त कर लिया गया है। तहरीर के आधार पर शहर कोतवाली में 2 नवम्बर 2017 को मुकदमा दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी गयी।
विवेचना के दौरान अभियुक्तगण 1. परशुराम दूबे पुत्र स्व0 चन्द्रभान दूबे निवासी खेतापुर थाना रौनापार जनपद आजमगढ़, 2. वेद प्रकाश मिश्रा पुत्र स्व0 हरिद्वार मिश्रा निवासी मदियापार थाना अतरौलिया जनपद आजमगढ़, 3. विजय प्रकाश मिश्रा पुत्र हरिद्वार मिश्रा , 4. सुमन सिंह पत्नी रामऔतार सिंह निवासी अजगरा थाना अतरौलिया, 5. दयानन्द तिवारी उर्फ भोलू तिवारी पुत्र विजय तिवारी निवासी भीलमपुर छपरा थाना अतरौलिया जनपद आजमगढ़ का नाम प्रकाश में आया। जिसमें पूर्व में अभियुक्त क्रमांक 1,3,5 के विरुद्ध आरोप पत्र प्रेषित किया जा चुका है। अभियुक्त वेदप्रकाश मिश्रा मुकदमे में वांछित था । जिसके विरुद्ध न्यायालय से धारा 83 सीआरपीसी का आदेश प्राप्त किया जा चुका था। शहर कोतवाल शशीचन्द्र चौधरी, निरीक्षक अपराध राजेश सिंह द्वारा वांछित अभियुक्त वेदप्रकाश मिश्रा पुत्र स्व0 हरिद्वार मिश्रा निवासी मदियापार थाना अतरौलिया को बीती रात बागेश्वरनगर तिराहे के पास से गिरफ्तार कर लिया गया।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment