.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: विश्वकर्मा भवन में भव्य रूप से आयोजित हुआ विश्वकर्मा जयंती समारोह



भाजपा सरकार ने विश्वकर्मा पूजन का अवकाश निरस्त कर अपमान किया है

केवल सपा सरकार ही विश्वकर्मा समाज का विकास कर सकती है - रामआसरे विश्वकर्मा, पूर्व मंत्री

आजमगढ़: अखिल भारतीय विश्वकर्मा शिल्पकार महासभा जनपद आजमगढ़ के तत्वाधान में नरौली स्थित विश्वकर्मा भवन पर विश्वकर्मा पूजा एवं जयंती समारोह का आयोजन आज 18 सितंबर को किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व मंत्री रामआसरे विश्वकर्मा थे। कार्यक्रम का शुभारंभ भगवान विश्वकर्मा के चित्र के सम्मुख आरती व हवन पूजन के साथ प्रारंभ हुआ। तत्पश्चात जनपद के विभिन्न क्षेत्रों से आये हुए सजातीय बंधुओं ने भगवान विश्वकर्मा के चित्र पर पुष्प अर्पित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कार्यवाहक जिला अध्यक्ष नगर पंचायत बिलरियागंज के अध्यक्ष वीरेंद्र विश्वकर्मा ने किया। अपने मुख्य संबोधन में पूर्व मंत्री राम आसरे विश्वकर्मा ने कहा कि 17 सितंबर भगवान विश्वकर्मा के पूजा दिवस पर सभी प्रदेशवासियों विश्वकर्मा शर्मा तथा शिल्पकार समाज को बधाई देते हैं।आज के दिन भगवान विश्वकर्मा का पूजा पर्व पूरे देश मे मनाया जाता है।सबसे पहले नेता जी और उसके बाद श्री अखिलेश यादव ने सपा सरकार मे विश्वकर्मा पूजा का सार्वजनिक अवकाश घोषित किया था। इससे पूरे देश मे विश्वकर्मा पूजा का महत्व बढा था। भाजपा सरकार ने भगवान विश्वकर्मा के पूजा पर्व पर घोषित सार्वजनिक अवकाश निरस्त कर भगवान विश्वकर्मा का अपमान कर दिया। सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव ने 17 सितम्बर को सभी समाजवादी पार्टी के जिला कार्यालयो मे विश्वकर्मा पूजा मनाने का आदेश देकर विश्वकर्मा पूजा का महत्व बढा दिया। भाजपा विश्वकर्मा समाज की विरोधी है क्योंकि वह लोग कभी भी अपने कार्यालय मे भगवान विश्वकर्मा का पूजा नहीं करते। सरकार की गलत नीतियों के चलते प्रदेश मे गरीबी भुखमरी महगांई और बेरोजगारी लगातार बढती जा रही है। प्रदेश सरकार द्वारा विश्वकर्मा समाज के पुश्तैनी और परम्परागत कारोबार जैसे लोहे लकडी के रोजगार को बढावा न देने कारण समाज का विकास रूक गया है।नौकरी और रोजगार न मिलने के कारण नौजवानों मे निराशा व्याप्त हो गयी है। आये दिन विश्वकर्मा समाज के ऊपर हो रहे उत्पीडन समाज के नौजवानों की हत्याएं महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार विश्वकर्मा के जमीनों पर कब्जा तथा फर्जी मुकदमों मे फंसाना आदि घटनाओं से विश्वकर्मा समाज दुखी और निराश हो गया है।जनपद बागपत बहराईच श्रावस्ती और महराजगंज मे विश्वकर्मा समाज के ऊपर हुए जघन्य अत्याचार से विश्वकर्मा समाज मे आक्रोश ब्याप्त है। विश्वकर्मा समाज पर सत्ता संरक्षित लोगो के अत्याचार पर कार्यवाही न कर भाजपा सरकार केवल अपना गुणगान करने मे लगी है। सपा सरकार मे विश्वकर्मा समाज के विकास के लिये चलाये गये विशेष अभियान जैसे कुटीर उद्योग के ग्राम सभा की जमीन का पट्टा विश्वकर्मा लोहार बढई समाज के नौजवानों को आईटीआई का प्रमाण पत्र सरकारी विभागों मे पुश्तैनी काम करने वाले लोगो को ही नौकरी और रोजगार देने का कार्य वर्तमान भाजपा सरकार ने बन्द कर दिया। विश्वकर्मा समाज भगवान विश्वकर्मा के अपमान को बर्दाश्त नहीं करेगा। हम मांग करते है कि सरकार 17 सितम्बर को विश्वकर्मा पूजा का सार्वजनिक अवकाश घोषित करे। अब यह तय है कि सपा सरकार ही केवल विश्वकर्मा समाज का विकास कर सकती है। इस अवसर पर डॉ जे आर विश्वकर्मा, अमरनाथ विश्वकर्मा, राम प्रकाश विश्वकर्मा, मनीष विश्वकर्मा, अनिल विश्वकर्मा, डॉ श्री राम विश्वकर्मा, दीपक विश्वकर्मा, शिवम ओझा सहित विश्वकर्मा समाज के पदाधिकारी व सदस्य उपस्थिति थे। कार्यक्रम का संचालन अखिल भारतीय विश्वकर्मा शिल्पकार महासभा के जिला महामंत्री दिनेश विश्वकर्मा ने किया।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment