.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ :गरीबों का आयुष्मान कार्ड बना सहारा, बिना खर्च के ठीक हुई वृद्धा


02 साल बाद चलीं तो बोलीं लखपति,ऊ बेचारू मोदी त सबही के बदे करत हऊवन...

घुटना खराब होने से चलने में थीं अशक्त, डा० मनीष त्रिपाठी ने एक सप्ताह में ठीक किया

आजमगढ़ : आयुष्मान कार्ड गरीबों के लिए वरदान साबित हो रहा है। वृद्ध लखपति दो साल बाद चल पाईं तो खुशी के मारे उनको आंसू छलक आए। रुपये नहीं लगे तो डाक्टर को दुवाएं देने लगीं, लेकिन जब उन्हें बताया गया कि प्रधानमंत्री के आयुष्मान कार्ड के कारण रुपये नहीं लगे ताे बोलीं कि ऊ बेचारू मोदी त सबही के बदे करत हऊवन ...।
अंबेडकर नगर जहांगीरगंज निवासी 65 वर्षीय लखपति को घुटने के दर्द ने मुश्किल में डाल दिया था। दरअसल, वह घुटना खराब होने से चल-फिर नहीं पा रहीं थी। राजमिस्त्री बेटा मुन्ना की कमाई से बमुश्किल गृहस्थी चलती थी, तो घुटना कैसे बदलवातीं। लछिरामपुर (आजमगढ़) में डाक्टर काे दिखाईं तो यहां भी आपरेशन की नौबत बताई गई । डाक्टर ने उनके बेटे से आयुष्मान कार्ड के बारे में बात की तो बताया कि बनवाया तो था। मुन्ना ने ढूंढ़ा तो मिला आयुष्मान कार्ड मां के लिए संजीवनी बन गया। डा. मनीष त्रिपाठी ने बताया कि ज्वाइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी 99 फीसद सफल है। खर्चीला होता है, लेकिन आयुष्मान में 25 लोग उनके यहां ज्वाइंट रिप्लेसमेंट करा चुके हैं। चार मरीजों के घुटने का कैंसर ठीक हुआ तो करीब 500 लोग इलाज करा चुके हैं।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment