.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: न्याय के लिए कलेक्ट्रेट की पानी की टंकी पर चढ़ा साधु वेशधारी


एडीएम के आश्वासन पर उतरा नीचे,डीएम के पास ले जाया गया

आजमगढ़ : अधिकारियों के यहां न्याय के लिए वर्षों से चक्कर काटते-काटते थक चुका एक साधु वेशधारी शुक्रवार को कलेक्ट्रेट स्थित पानी की टंकी पर चढ़ गया। इसकी भनक वहां सुरक्षा में लगे लोगों को नहीं लग सकी। जानकारी तब हुई जब वह टंकी के ऊपरी हिस्से पर पहुंचने के बाद आवाज लगाई कि आज न्याय नहीं मिला तो कूद जाऊंगा।
इसकी जानकारी अधिकारियों को मिली तो सबकी सांसें फूलने लगीं। सुरक्षा कर्मी भी टंकी के पास जमा हो गए। किसी की समझ में नहीं आ रहा था कि आखिर क्या किया जाए। पुलिस वाले नीचे से आवाज लगा रहे थे कि नीचे उतर आओ तुम्हें न्याय जरूर मिलेगा, लेकिन वह बार-बार जिलाधिकारी को बुलाने की मांग पर अड़ गया।
अंत में बात डीएम तक पहुंची, तो अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व आजाद भगत सिंह स्वयं टंकी के पास पहुंचे और बताया कि उतरकर नीचे आइए डीएम साहब बात करने के लिए बुला रहे हैं। उसके बाद साधु नीचे उतरा तब जाकर प्रशासन ने राहत की सांस ली।एडीएम के आश्वासन के बाद वह नीचे उतरा और पुलिस वाले उसे डीएम से मिलवाने के लिए साथ ले गए।
टंकी से उतरने के बाद सगड़ी तहसील क्षेत्र के अजगरा गांव के रहने बाबू लाल साधु ने बताया कि सपा सरकार के समय में उसकी निजी जमीन में विपक्षी ने रास्ता बना लिया। उसकी शिकायत थाना से लेकर तहसील मुख्यालय पर की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई।
जिलाधिकारी दरबार में भी कई बार प्रार्थना पत्र दिया, लेकिन कुछ नहीं हो सका। इससे परेशान होकर इससेे पहले भी एक बार पेड़ पर चढ़कर लटका और एक बार पानी की टंकी पर चढ़ा था। उस समय भी न्याय का भरोसा देकर मुझे नीचे उतारा गया था, लेकिन जमीन को मुक्त नहीं कराया गया। बहरहाल डीएम ने उसे जांच के बाद न्याय देने का भरोसा दिलाया है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment