.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: जिले के प्रभावशाली लोगों से संपर्क कर निवेश कराएं -सीएम योगी



निर्माण कार्यां में शिथिलता किसी भी कीमत पर क्षम्य नहीं होगी

आगामी पर्वों पर अतिरिक्त सतर्कता आवश्यक है - मुख्यमंत्री

आजमगढ़ 04 अगस्त-- सीएम योगी आदित्यनाथ ने आज कलेक्ट्रेट सभागार में मंडलीय अधिकारियों के साथ विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक की। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि जनपद के विकास के लिए जनपद के बाहर रहने वाले बड़े पदों के अधिकारी एवं व्यापारियों से संपर्क किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि निवेश करने वाले व्यक्तियों को अच्छे संसाधन एवं आवश्यक व्यवस्थाएं उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने कहा कि उद्यमियों को निवेश करने एवं रोजगार सृजन करने के लिए जनपदीय अधिकारी हर प्रकार की सुविधाएं, सुरक्षा एवं आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराएं।
मुख्यमंत्री ने जनपद में चल रहे निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि निर्माण कार्यों में तेजी लाएं। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों के लिए अवमुक्त की गई धनराशि के सापेक्ष निर्माण कार्य को निर्धारित समय में पूर्ण किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों की गुणवत्ता से समझौता नहीं किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि लापरवाही एवं कार्यां में शिथिलता किसी भी कीमत पर क्षम्य नहीं होगी।
प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी एवं ग्रामीण) की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिया कि लाभार्थियों का चयन पारदर्शिता एवं ईमानदारी के साथ किया जाए। उन्होंने कहा कि पात्र व्यक्तियों को ही योजना का लाभ दिया जाना सुनिश्चित करें। अधिकारियों को निर्देश दिया कि चयनित लाभार्थियों के खाते में धनराशि समय से पहुंच जाए, इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरतें। उन्होंने निर्देश दिया कि यदि समय से धनराशि नहीं पहुंचती है तो संबंधित के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। जनपद में बाढ़ एवं सूखे की समीक्षा करते हुए कहा कि बाढ़ एवं सूखे से प्रभावित किसानों को शासन द्वारा अनुमन्य धनराशि समय से उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि बाढ़ एवं सूखे से किसी भी प्रकार की जनहानि/धनहानि एवं पशु हानि नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बाढ़ की स्थिति में प्रभावित व्यक्तियों को शासन द्वारा निर्धारित सहायता समय से उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि बाढ़ से प्रभावित क्षेत्र के पशुओं का टीकाकरण कराना सुनिश्चित करें।
मुख्यमंत्री ने कानून व्यवस्था की समीक्षा करते हुए कहा कि आगामी पर्व/त्यौहार को देखते हुए अतिरिक्त सतर्कता की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि पर्व के अवसर पर पुलिस विभाग के अधिकारी लगातार अपने क्षेत्रों में भ्रमण करते रहें। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार की अफवाह फैलाने वाले व्यक्ति पर त्वरित गति से कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि जनपद में जनता के बीच में शांति, सौहार्द एवं भाईचारे की भावना बनी रहे। निर्देश दिया कि यातायात की व्यवस्था को सुदृढ़ करें। उन्होंने कहा कि यातायात को सुचारू रूप से चलाने के लिए सड़कों के किनारे से अवैध अतिक्रमण को हटा दिया जाए। उन्होंने निर्देश दिया कि त्योहारों के सीजन में जाम जैसी स्थिति न उत्पन्न हो।
जिलाधिकारी श्री विशाल भारद्वाज ने मुख्यमंत्री के समक्ष विकास कार्यां की प्रस्तुतीकरण किया। उन्होने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि हर घर तिरंगा कार्यक्रम के अन्तर्गत जनपद का लक्ष्य 7.98 लाख है। उन्होने बताया कि एमएसएमई द्वारा 3.73 लाख एवं जनपद से 4.25 लाख झण्डे निर्मित किये जायेंगे। जिसमें से अब तक कुल 3.12 लाख झण्डे निर्मित किये जा चुके हैं, तथा अवशेष 1.13 लाख झण्डों का निर्माण 05 अगस्त तक पूर्ण कर लिये जायेंगे। जिलाधिकारी ने बताया कि टैबलेट/स्मार्टफोन वितरण के अन्तर्गत 12143 टैबलेट प्राप्त हुए हैं, जिसमें से 12141 टैबलेट वितरित किये जा चुके हैं तथा 4821 स्मार्टफोन के सापेक्ष 4820 स्मार्टफोन वितरित किये जा चुके हैं। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजना (मनरेगा) के अन्तर्गत जनपद में अमृत सरोवर निर्माण का लक्ष्य 372 है। उन्होने बताया कि अब तक 72 अमृत सरोवर का निर्माण कार्य पूर्ण किये जा चुके हैं तथा 300 अमृत सरोवर निर्माण कार्य प्रगति पर है। जिलाधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेण्डर आत्म निर्भर निधि (पीएम स्वनिधि) के अन्तर्गत अब तक प्रथम ऋण 5629 वार्षिक लक्ष्य के सापेक्ष 6264 की उपलब्धि (क्रमिक) प्राप्त की गयी है तथा द्वितीय ऋण 798 वार्षिक लक्ष्य के सापेक्ष 759 की उपलब्धि प्राप्त की गयी है। उन्होने बताया कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजनान्तर्गत पात्र कृषकों की संख्या 751869 है तथा किसान सम्मान निधि प्राप्त किसानों की संख्या शत प्रतिशत है।
जिलाधिकारी ने बताया कि निराश्रित गोवंश संरक्षण के लिए कुल संचालित गो आश्रय स्थलों की संख्या 50, निर्माणाधीन अस्थायी गोवंश आश्रय स्थल की संख्या 44, निर्माणाधीन वृहद गोवंश आश्रय स्थल की संख्या 03 तथा गोवंश संरक्षण का लक्ष्य 4924 है, जिसके सापेक्ष 6209 गोवंश संरक्षित किये गये हैं। उन्होने बताया कि मुख्यमंत्री सहभागिता योजनान्तर्गत गोवंश संरक्षण का लक्ष्य (वार्षिक) 2800 है, जिसके सापेक्ष माह जुलाई 2022 तक 934 गोवंश संरक्षित किये गये हैं। उन्होने बताया कि मुख्यमंत्री सहभागिता योजनान्तर्गत गोवंश संरक्षण की उपलब्धि माह जुलाई 2022 तक 2260 है। उन्होने बताया कि राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल मिशन के अन्तर्गत जनपद का लक्ष्य (वार्षिक) 31 है, माह जुलाई 2022 तक पूर्णता का लक्ष्य 10 है, जिसके सापेक्ष शत प्रतिशत पूर्ण कर लिया गया है। उन्होने बताया कि महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजनान्तर्गत 31.14 लाख के सापेक्ष 28.99 लाख मानव दिवस सृजित किये गये हैं। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत 4528 समूह गठन (वार्षिक) लक्ष्य के सापेक्ष 1509 समूहों का गठन किया गया है। 661 ग्राम संगठन के लक्ष्य के सापेक्ष माह तक 220 ग्राम संगठन का गठन किया गया है। सीएलएफ वार्षिक लक्ष्य 10 के सापेक्ष माह तक 04 तथा उपलब्धि 12 है।
जिलाधिकारी ने मा0 मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया कि प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के अन्तर्गत वार्षिक लक्ष्य 10637 के सापेक्ष माह तक 9845 आवास पूर्ण कर लिये गये तथा निर्माणाधीन आवासों की संख्या 792 है। उन्होने बताया कि मुख्यमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के अन्तर्गत 484 आवास निर्माण लक्ष्य के सापेक्ष 432 आवास का निर्माण पूर्ण कर लिया गया तथा निर्माणाधीन आवासों की संख्या 52 है। प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के अन्तर्गत 15606 वार्षिक लक्ष्य के सापेक्ष माह तक 12983 आवासों का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है तथा निर्माणाधीन आवासों की संख्या 2623 है। जिलाधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजनान्तर्गत अब तक 3086 आवेदन प्राप्त हुए हैं तथा स्वीकृत आवेदन पत्रों की संख्या 2382 है। उन्होने बताया कि अवशेष 704 आवेदन पत्र सत्यापन की प्रक्रिया में हैं।
जिलाधिकारी ने बताया कि वृक्षारोपण अभियान के अन्तर्गत वार्षिक लक्ष्य 5948980 के सापेक्ष 5103200 की उपलब्धि हासिल की गई है। उन्होने बताया कि आपरेशन कायाकल्प योजना के अन्तर्गत अवस्थापना सुविधाओं के अन्तर्गत कुल स्कूलों की संख्या 2703 है, जिसमें पेयजल 96.39 प्रतिशत, बालक शौचालय 93.04 प्रतिशत एवं बालिका शौचालय 94 प्रतिशत है। उन्होने बताया कि 80.22 प्रतिशत शौचालयों में जलापूर्ति की जा रही है। जिलाधिकारी ने बताया कि कुल 1858 ग्राम पंचायतें हैं, जिसमें 1804 ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालय निर्माण के लक्ष्य के सापेक्ष 1791 ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालय का निर्माण पूर्ण हो चुके हैं तथा ओडीएफ प्लस ऐप पर जीयो टैग की संख्या 1804 के सापेक्ष 1791 है एवं 13 सामुदायिक शौचालय निर्माणाधीन हैं।
इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन निर्माण, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, पेंशन योजना, गन्ना मूल्य भुगतान, कोविड वैक्सीनेशन, आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (गोल्डेन कार्ड), आईसीडीएस (पोषण अभियान) तथा जनपद आजमगढ़ की 10 करोड़ से अधिक लागत की परियोजनाओं की विस्तृत जानकारी से मुख्यमंत्री को अवगत कराया।
बैठक में पूर्वांचल विकास बोर्ड के उपाध्यक्ष श्री नरेन्द्र सिंह, परिवहन राज्य मंत्री श्री दयाशंकर सिंह, प्रभारी मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह चौधरी, श्री सुरेश राही, श्री दयाशंकर मिश्र ‘दयालु जी’, सांसद आजमगढ़ श्री दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’, विधान परिषद सदस्य श्री विजय बहादुर पाठक, श्री यशवंत सिंह, श्री विक्रान्त सिंह ‘रिशु’, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री/सूचना श्री संजय प्रसाद, एडीजी वाराणसी जोन, आयुक्त आजमगढ़ मण्डल आजमगढ़ श्री मनीष चौहान, डीआईजी श्री अखिलेश कुमार, पुलिस अधीक्षक श्री अनुराग आर्य, मुख्य विकास अधिकारी श्री आनन्द कुमार शुक्ला सहित समस्त अधिकारी एवं जन प्रतिनिधिगण उपस्थित रहे। साथ ही वर्चुअल माध्यम से जिलाधिकारी बलिया एवं मऊ जुड़े रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment