.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: बिजली महोत्सव : बिजली की बचत ही ‘बिजली का उत्पादन’



अमृत महोत्सव में उज्जवल भारत, उज्जवल भविष्य पावर-2047 कार्यक्रम हुआ

डीएम ने 10 विद्युत सखियों को प्रशस्ति पत्र दे सम्मानित किया

आजमगढ़ : आजादी के अमृत महोत्सव के तहत मंगलवार को नेहरू हाल में बिजली महोत्सव एवं ऊर्जा दिवस अभियान के अवसर पर उज्जवल भारत, उज्जवल भविष्य पावर-2047 कार्यक्रम हुआ। डीएम विशाल भारद्वाज ने कहा कि 75 वर्षों में बिजली के क्षेत्र में अनेक विकास हुए हैं। जिन गांवों में बिजली नहीं थी, उनमें अभूतपूर्व कार्य हुए हैं। सरकार का प्रयास है कि हर गांव व मजरों में बिजली पहुंचे। ग्रामीण क्षेत्र में लगभग 20 घंटे बिजली मिल रही है। कहा कि बिजली की बचत ही बिजली का उत्पादन है।
डीएम ने कहा कि पिछले पांच वर्षों में सौर ऊर्जा में क्रांतिकारी परिवर्तन हुए हैं। सोलर पैनल भी बिक रहा है। सोलर ऊर्जा की दरें कोयले से प्राप्त होने वाली बिजली की दर से कम है। शासन की मंशा है कि लोगों को विद्युत आपूर्ति निर्बाध रूप से हो। दूसरी तरफ विद्युत उपभोक्ता बिजली का भुगतान भी समय से करें। ग्रामीण क्षेत्र में विद्युत सखी भी कार्य कर रही हैं। विद्युत देयों के भुगतान के लिए जागरूक कर रही हैं।
डीएम ने एनआरएलएम के अंतर्गत 10 विद्युत सखी को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। सूत्रधार संस्थान के कलाकारों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम और नुक्कड़ नाटक (बिजली की यात्रा) से ऊर्जा के क्षेत्र के विकास एवं भविष्य में प्राप्त होने वाली विकास संभावनाओं को प्रदर्शित किया, जो सराहनीय रहा। भाजपा जिलाध्यक्ष आजमगढ़ ध्रुव सिंह व लालगंज ऋषिकांत राय ने भी विचार व्यक्त किए। संचालन एनटीपीसी टांडा के उप महाप्रबंधक परवेज खान ने किया। सीडीओ आनंद कुमार शुक्ला, एनटीपीसी टांडा के महाप्रबंधक अतुल गुप्ता, मुख्य अभियंता एएन सिंह, अधीक्षण अभियंता विद्युत वितरण मंडल द्वितीय सैयद अब्बास रिजवी, एक्सईएन विद्युत वितरण खंड प्रथम अरविंद कुमार सिंह, फूलपुर रामपाल यादव, एक्सईएन रवि अग्रवाल, गोपाल सिंह, वरिष्ठ प्रबंधक एनटीपीसी एसएन पांडेय आदि थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment