.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: किसी भी दशा में अवैध वाहनों का संचालन नहीं हो - कमिश्नर


सीएनजी किट लगाने के सभी मानकों का पूरा होना जरूरी: मण्डलायुक्त

वाहन स्टैंडो की व्यवस्था ठीक करा वहीं से संचालन कराएं - डीएम

आज़मगढ़ 28 जून -- मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने मंगलवार को अपने कार्यालय सभागार में आयोजित संभागीय परिवहन प्राधिकरण की अध्यक्षता करते हुए परिवहन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि मण्डल के जनपदों में अवैध वाहनों के संचालन पर सख्ती रोक लागाई जाये, किसी भी दशा में अवैध वाहनों का संचालन नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रायः बिना नम्बर प्लेट की गाड़ियॉं भी सड़कों पर संचालित पाई जाती हैं तथा हाई सिक्योरिट नम्बर प्लेट्स भी बहुत कम वाहनों पर लगे हुए पाये जाते हैं, यह स्थिति अत्यन्त आपत्तिजनक है। उन्होंने अभियान चलाकर इस प्रकार के वाहन के विरुद्ध कार्यवाही करने का निर्देश दिया। बैठक में संभागीय परिवहन अधिकारी द्वारा जनपद आज़मगढ़ में दो एवं बलिया में एक सीएनजी किट लगाने हेतु प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया, जिसपर मण्डलायुक्त श्री पन्त ने कहा कि पहले सुरक्षा के सभी मानकों को पूरा होने, सभी संयन्त्र उपलब्ध होने, सम्बन्धित को दक्ष एवं प्रशिक्षित होने आदि सभी बिन्दुओं की जॉंच कर लें, तदुपरान्त पूर्ण विवरण के साथ प्रस्ताव उपलब्ध करायें। मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने कहा कि जनपदों में अवैध रूप से डीजल से चलने वाले अवैध आटो रिक्शा पर भी सख्ती से रोक लगाई जाय। उन्होंने परिवहन विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि पेट्रोल पम्पों के माध्यम से तथा जिला पूति अधिकारी से इस सम्बन्ध में रिपोर्ट प्राप्त करें। उन्होने कहा कि शासन के निर्देशानुसार डीजल चालित किसी आटो रिक्श को अब न तो नया परमिट दिया जाना है और न ही परमिट की अवधि बढ़ाई जानी है, इसलिए जिन डीजल चालित आटो रिक्शा की परमिट अवधि समाप्त हो चुकी है उसे सख्ती से बन्द करायें। मण्डलायुक्त ने कहा कि मण्डल के जनपदों में भ्रमण के दौरान ओवर लोड गाड़ियॉं भी संचालित पाई जाती हैं, इस पर सख्ती से अंकुश लगाया जाय। उन्होंने कहा कि अवैध वाहनों, बिना नम्बर प्लेट की गाड़ियों, ओवर लोडिंग आदि के सम्बन्ध में जो भी कार्यवाही की जाय, उसका नियमित रूप से विवरण भी उपलब्ध कराया जाय। उन्होंने निर्देश दिया कि मोटर गाड़ी अधिनियम 1988 की धारा 86 के प्राविधानों के अनतर्गत परमिट शर्तों के विरुद्ध संचालित वाहनों के प्रति की गयी कार्यवाही में मण्डल के जनपदों से सम्बन्धित वाहन स्वामियों को जो नोटिस निर्गत की गयी है, उसे प्राप्त हो जाने की स्थिति का सत्यापन करा लें, तद्नुसार कार्यवाही सुनिश्चित करायें।
जिलाधिकारी आज़मगढ़ विशाल भारद्वाज ने कहा कि आटो रिक्शा, ई-रिक्शा आदि द्वारा अव्यवस्थित ढंग से सवारियों को बैठाने और उतारने के कारण प्रायः जाम लग जाता है, जिससे लोगों को अनावश्यक रूप से परेशानी उठानी पड़ती है। इस सम्बन्ध में उन्होंने अधिशासी अधिकारी, नगर पालिका परिषद आज़मगढ़ को निर्देशित किया कि शहर के अन्दर जो भी वाहन स्टैण्ड बने हैं, वहॉं तत्काल व्यवस्थायें सुदृढ़ कराते हुए वाहनों का वहीं से संचालन सुनिश्चित करायें।
इस अवसर पर उप परिवहन आयुक्त, वाराणसी जोन अशोक कुमार सिंह, संभागीय परिवहन अधिकारी (प्रशासन/प्रवर्तन) रामवृक्ष सोनकर व डा. आरएन चौधरी, सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी (प्रशासन/प्रवर्तन) सत्येन्द्र कुमार सिंह यादव व सन्तोष कुमार सिंह, सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी बलिया अरुण कुमार सिंह, अधिशासी अधिकाकारी नगर पालिका परिषद आज़मगढ़ मनोज कुमार सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment