.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ: मुझे बच्चों को डाक्टर-इंजीनियर बनाने की कोशिश की मिली सजा - आजम खान


जिले में जैसे विधानसभा चुनाव में एकजुट हुए वैसे ही लोकसभा उपचुनाव भी जिताएं -सपा नेता

आजमगढ़ : जिले के नसीरपुर और मुबारकपुर में चुनावी सभा को संबोधित करने शनिवार को पहुंचे सपा के कद्दावर नेता आजम खां ने खुद पर कार्रवाई को जुल्म करार देते हुए कहा कि मैं बच्चों को डाक्टर और इंजीनियर बनाना चाहता था, जिसकी सजा मुझे दी गई। बीमार होने के बाद भी 27 महीने जेल में रखा गया। वजीर रहते हुए मैंने और मेरे परिवार ने चंदा मांगकर शिक्षा की इमारत खड़ी की, जिसे तोड़ा गया। ईडी ने सात-सात घंटे तक मुझसे पूछताछ की। जायदाद और विदेशों के बैंक अकाउंट के बारे में पूछा गया।
उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान के जिस्म पर खंजर मारकर दो टुकड़े किए गए। इसके लिए मुसलमान कतई जिम्मेदार नहीं थे। मौलाना आजाद ने आखिरी समय तक कहा था कि मेरा जिस्म बंट सकता है, लेकिन हिंदुस्तान नहीं। फिर वह कौन लोग थे, जिन्होंने देश को बांटा और उसके बाद गांधी की हत्या की। बताया कि मुसलमान कभी जुल्म नहीं करता। जिस समय भगत सिंह को फांसी देने की बात आई उस समय जस्टिस हैदर ने यह कहते हुए इस्तीफा दे दिया था कि भगत सिंह मासूम हैं, मैं जज हूं कसाई नहीं।
नसीरपुर की सभा में कहा कि जेल में सड़ी रोटी और दाल खाकर भी जिंदा हूं, जबकि चाहा गया था कि खुदकशी कर लूंगा। कहा की मैंने कभी भी हिंदू धर्म के देवी-देवताओं पर अपनी जुबान से आपत्तिजनक जुमले इस्तेमाल नहीं किए, लेकिन आए दिन कुरान और नबी की तौहीन की जा रही है। आज बिहार की लगी आग यूपी में दाखिल न हो जाए। आग में किसको निशाना बनाया जाएगा, इससे सावधान रहने की जरूरत है। देश में पहले लोग कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहते थे, लेकिन नफरत का ऐसा माहौल बनाया जा रहा है कि लोग आपस के रिश्ते में धोखा खा जाएं।
जिस तरह से आप लोगों ने एकजुट होकर विधानसभा चुनाव में सभी सीटों पर सपा के प्रत्याशी को जिताया है। उसी प्रकार लोकसभा उपचुनाव में सपा प्रत्याशी धर्मेंद्र यादव को विजयी बनाएं। यादव और मुसलमानों से कहा कि कागज-कलम ले लीजिए और अपने को आधा-आधा कर लीजिए, तो न आप जीतेंगे और न हम।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment