.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ सदर के 20वें सांसद बने दिनेश लाल यादव निरहुआ


1984 तक हुए नौ चुनावों में कांग्रेस के छह उम्मीदवार सांसद बने थे...देखें पूरी सूची..

आजमगढ़ : 69-संसदीय क्षेत्र के लिए 18 लाख 38 हजार 930 लोगों ने अपना 20वां सांसद चुनने के लिए अपना अमूल्य वोट दिया। यहां से सांसद रहे सपा सुप्रीमों अखिलेश यादव के इस्तीफा देने के कारण यह सीट खाली हुई थी, जो 19 वें सांसद थे। इतिहास को जानें तो यहां के पहली बार 1952 में सीताराम अस्थाना कांग्रेस से चुनाव लड़े और जीतकर दिल्ली जा पहुंचे। उसके बाद सन 1984 तक आजमगढ़ में कांग्रेस की पकड़ मजबूत रही। हालांकि, 1984 तक हुए नौ चुनावों में कांग्रेस के छह उम्मीदवार सांसद बन पाए थे। उसके बाद जनता दल, बसपा और सपा का उदय हुआ तो आजमगढ़ की पहचान सपा-बसपा के गढ़ के रूप में हुई, जिस तमगे को बाद में विभिन्न चुनावों में सफलता-दर-सफलता दर्ज कर सपा ने झटक लिया। हालांकि, संसदीय चुनाव में सर्वाधिक छह बार अपने सांसद जिताने वाली कांग्रेस के बाद चार जीत बसपा, तीन सपा और एक भाजपा के नाम दर्ज थी। अबकी सपा के धर्मेंद्र यादव, भाजपा के दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ और बसपा से दूसरी बार चुनाव लड़ रहे शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली में 20वां सांसद कौन बनेगा इसका फैसला जनता ने ईवीएम में दे दिया था, लेकिन अब भाजपा के दिनेश लाल यादव निरहुआ विजेता बन कर सामने आ गए हैं।
आंकड़ों के आईने में देखिए, किस दल के प्रत्याशी ने कब पाई सफलता :

1-1952 सीताराम अस्थाना (कांग्रेस)

2-1957 कालिका सिंह (कांग्रेस)

3-1962 राम हरख यादव (पीएसपी)

4-1967 चंद्रजीत यादव (कांग्रेस)

5-1971 चंद्रजीत यादव (कांग्रेस)

6-1977 रामनरेश यादव (जनता पार्टी)

7-1978 मोहसिना किदवई (कांग्रेस-उपचुनाव)

8-1980 चंद्रजीत यादव (जनता एस)

9-1984 संतोष सिंह (कांग्रेस)

10-1989 रामकृष्ण यादव (बसपा)

11-1991 चंद्रजीत यादव (जनता दल)

12-1996 रमाकांत यादव (सपा)

13-1998 अकबर अहमद डंपी (बसपा)

14-1999 रमाकांत यादव (सपा)

15-2004 रामाकांत यादव (बसपा)

16-2008 अकबर अहमद डंपी (बसपा-उपचुनाव)

17-2009 रमाकांत यादव (भाजपा)

18-2014 मुलायम सिंह यादव (सपा)

19-2019 अखिलेश सिंह यादव (सपा)

20- दिनेश लाल यादव निरहुआ (भाजपा)

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment