.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: बिना सूचना लम्बे समय से अनुपस्थित रहा आरक्षी बर्खास्त हुआ

एसपी अनुराग आर्य

काम करने वालों को पुरस्कार मिलेगा और विभाग के विपरीत काम करने वाले बख्से नही जाएंगे-एसपी

आजमगढ़ : बेहतर काम करने वालों को पुरस्कार और विभागीय अपेक्षा के विपरीत काम करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ पुलिस कप्तान के तेवर तल्ख हो गए हैं। इससे पहले कई पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई कर चुके एसपी अनुराग आर्य ने पुलिस लाइन में तैनात एक सिपाही को जांच के बाद बर्खास्त कर दिया है। बर्खास्त सिपाही शैलेंद्र मिश्रा पर बिना अनुमति अनाधिकृत रूप से अनुपस्थित रहने का आरोप है। इस मामले में जांच के बाद एसपी ने कड़ी कार्रवाई की है। वह पुलिस लाइन में तैनात था।
एसपी ने बताया कि आठ जुलाई 2019 को सेशन हवालात ड्यूटी से बिना अनुमति के अनुपस्थित होकर 29 दिसंबर 2020 तक कुल 540 दिवस अनाधिकृत रूप से अनुपस्थित रहने के आरोप की प्रारंभिक जांच क्षेत्राधिकारी सदर अकमल खां तथा विभागीय जांच क्षेत्राधिकारी सगड़ी महेंद्र कुमार शुक्ला ने की, जिसमें आरोप प्रमाणित हुआ। आरक्षी को सुधरने हेतु अवसर प्रदान किया गया, लेकिन सुधार नहीं हुआ।
बर्खास्तगी से पहले आरक्षी को कई बार अनुपस्थित रहने के कारण लघु दंड के रूप में छह बार परिनिन्दा, नौ बार अर्थदंड एवं एक बार तीन वर्ष के लिए न्यूनतम वेतन पर दीर्घ दंड से दंडित किया गया, लेकिन आरक्षी के अंदर कोई सुधार परिलक्षित नहीं हुआ। आरक्षी को जिस उद्देश्य की पूर्ति के लिए भर्ती किया गया, उसकी पूर्ति बार-बार बिना अनुमति अनाधिकृत रूप से अनुपस्थित रहने के कारण नहीं हो पा रही है। ऐसी स्थिति में उसे सेवा से बर्खास्त किया गया है।
पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने बताया कि मैंने कार्यभार ग्रहण करने के दिन ही संदेश दिया था कि अच्छा काम करने वालों को पुरस्कार और विभागीय के साथ जनता की अपेक्षा के अनुसार काम न करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। तमाम पुलिस कर्मियों ने अच्छा काम भी किया है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment