.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: अब नहीं लगाना होगा साइबर थाने का चक्कर


रानी की सराय में बना है साइबर थाना,अब सभी थानों में साइबर हेल्प डेस्क की स्थापना हुई

आजमगढ़ : जिले में साइबर क्राइम का मामला दर्ज करने के लिए अलग से थाना बनाया गया है। यह थाना रानी की सराय में बनाया गया है। जिले भर में होने वाले साइबर क्राइम की रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए लोगों को रानी की सराय जाना पड़ता था, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। सभी 25 थानों में साइबर हेल्प डेस्क की स्थापना कर दी गई है। थानों में एकाउंट ब्लाक, गलत पोस्ट का मुकदमा दर्ज किया जाएगा। इसके लिए कंप्यूटर के जानकार सिपाही, जानकार दारोगा थाने स्तर पर तैनात किए गए हैं। बड़े मामलों में साइबर थाने से समन्वय स्थापित कर कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए थानों पर तैनात साइबर हेल्प डेस्क टीम के सदस्यों को प्रशिक्षण भी दिया जा चुका है। जिले के 25 थानों पर गठित साइबर हेल्प डेस्क पूरी तरह से सक्रिय हो गया है। रविवार को पुलिस लाइन के सभागार में साइबर डेस्क पर तैनात कर्मियों को तकनीकी जानकारी देकर दक्ष किया गया। पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने कहा कि इससे साइबर अपराध के शिकार पीड़ितों को त्वरित सहायता मिलेगी। प्रत्येक साइबर हेल्प डेस्क पर प्रार्थना पत्र रजिस्टर बनाया गया है। हेल्प डेस्क पर एक निरीक्षक, उपनिरीक्षक, दो आरक्षी, एक महिला आरक्षी कंप्यूटर आपरेटर, एक आरक्षी कंप्यूटर आपरेटर को नियुक्त किया गया है। शिकायत रजिस्टर होने के उपरांत फ्राड के पैसे रिफंड कराए जाएंगे। ऐसी शिकायतें जो थाना साइबर हेल्प डेस्क से निस्तारित नहीं हो सकती हैं, उनका निस्तारण जनपदीय साइबर सेल व रेंज स्तर पर साइबर थाना के मार्गदर्शन से किया जाएगा।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment