.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: पुलिस लाइन में लाठीचार्ज के बाद छोड़े गए आंसू गैस के गोले !


पुलिस के खिलाफ नारेबाजी व पथराव,एसपी ने फोर्स के साथ खुद संभाला मोर्चा

दंगा नियंत्रण अभ्यास में पुलिस फोर्स ने जांची तैयारियां

आजमगढ़ : अपनी मांगों को लेकर आक्रोशित भीड़ आगे बढ़ने लगी तो उसका तेवर देख पुलिस भी अलर्ट हो गई। पुलिस ने भीड़ को रोकने का प्रयास किया तो पथराव शुरू हो गया। पुलिस ने लाठीचार्ज कर एक बारगी खदेड़ दिया, लेकिन कुछ ही पल बाद भीड़ पुलिस पर भारी पड़ने लगी। पुलिस की ओर बढ़ती भीड़ मुर्दाबाद के नारे लगा रही थी। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया, लेकिन जब स्थिति नियंत्रण में नहीं हुई तो पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए फोर्स के साथ खुद पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य को मोर्चा संभालना पड़ा। उन्होंने अपने हाथों से आंसू गैस के गोले दागने शुरू किए और चेतावनी जारी की।य ह दृश्य दिखा रविवार की दोपहर पुलिस लाइन परिसर में हुए दंगा नियंत्रण रिहर्सल के दौरान दिखा। एसपी की अगुवाई में पुलिसकर्मी अभ्यास कर रहे थे। आगामी त्योहार को देखते हुए जवानों ने किसी तरह की चुनौती से निपटने की तैयारी का अभ्यास किया। इस दौरान पानी की बौछार और लाठी चार्ज कर भीड़ को तितर-बितर करने का प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण के दौरान लग रहा था कि वाकई गुरिल्ला युद्ध चल रहा है। बाहरी आदमी के लिए समझना मुश्किल था कि आखिर पुलिस लाइन में ऐसा दृश्य क्यों दिख रहा है। प्रशिक्षु आरक्षी जनता की भूमिका निभा रहे थे तो बाकी खाकी की भूमिका में थे। प्रशिक्षण को लेकर जवानों में भी काफी उत्साह दिखा। एसपी ने जवानों का उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि किसी भी परिस्थिति में अपने धैर्य को नहीं खोना है। दंगा व बलवा के समय सख्ती बरतना होगा। इस पर नियंत्रण करना ही हम सबकी चुनौती रहती है। पुलिस अधीक्षक अभ्यास के दौरान मिली खामियों पर विस्तृत रूप से सभी पुलिस कर्मियों से फीडबैक लेकर सुधार के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment