.

.

.

.

.

.
.

 आज़मगढ़: कमिश्नर और डीएम ने ‘‘स्कूल चलो अभियान’’ का शुभारम्भ किया



कोविड के कारण कक्षा 01 व 02 नही पढ़ पाए बच्चों को स्पेशल क्लास दे सामान्य स्तर पर लाएंगे- विजय विश्वास पंत


आजमगढ़ 04 अप्रैल-- मुख्यमंत्री, योगी आदित्यनाथ ने आज जनपद श्रावस्ती में स्कूल चलो अभियान का शुभारम्भ किया। इसी क्रम में कम्पोजिट प्राथमिक विद्यालय उकरौड़ा शिक्षा क्षेत्र पल्हनी में आयुक्त आजमगढ़ मण्डल आजमगढ़ विजय विश्वास पंत एवं जिलाधिकारी अमृत त्रिपाठी ने मॉ सरस्वती के चित्र पर पुष्प अर्पित कर एवं दीप प्रज्ज्वलित कर ‘‘स्कूल चलो अभियान’’ का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के कार्यक्रम का सजीव प्रसारण किया गया।
इस अवसर पर मण्डलायुक्त ने बताया कि करीब 2 साल तक कोरोना महामारी के कारण बच्चों का पठन-पाठन काफी प्रभावित हुआ है। लेकिन उसके बावजूद भी जनपद आजमगढ़ में करीब 29 हजार बच्चों का नामांकन परिषदीय विद्यालयों में बढ़ा है। उन्होने कहा कि परिषदीय विद्यालयों में बच्चों का नामांकन तभी बढ़ता है जब अभिभावक समझते हैं कि निजी विद्यालयों की अपेक्षा परिषदीय विद्यालयां में भी अच्छे अध्यापकों के माध्यम से पठन-पाठन में काफी इजाफा हो रहा हैं और हमारे बच्चों की पढ़ाई अच्छी हो सकती है। उन्होने कहा कि कोरोना के कारण करीब 2 सालों से बच्चों का पठन-पाठन काफी प्रभावित होना एक चैलेन्ज है कि किस तरह जिन बच्चों ने क्लास 1 एवं 2 को मिस किया है, उनको उस स्तर तक कैसे लाया जाय। उन्होने कहा कि जो बच्चे पढ़ाई से पिछले 1 या 2 साल से नही जुड़ पाये हैं, उनको स्पेशल क्लासेस देकर उनको सामान्य स्तर पर लायेंगे। उन्होने कहा कि शिक्षा से ही मानव जीवन का भविष्य उज्ज्वल है। मण्डलायुक्त ने बताया कि काफी विद्यालयों को कायाकल्प योजना से जोड़ा गया है एवं इस सत्र में यही प्रयास रहेगा कि अधिक से अधिक विद्यालयों को कायाकल्प योजना से जोड़ा जाय। मण्डलायुक्त ने प्रधानाचार्या को बुलाकर पूछा कि किस तरह से बच्चों का अधिक से अधिक नामांकन होगा एवं किसी प्रकार गुणवत्तायुक्त शिक्षा दी जायेगी। उन्होने कहा कि मै 15 दिन बात फिर आउंगा एवं बच्चों के नामांकन की संख्या व गुणवत्तायुक्त शिक्षा के बारे में जानकारी लूंगा।
जिलाधिकारी अमृत त्रिपाठी ने कहा कि अध्यापक छात्रों को अपना बच्चा समझकर पढ़ायें, बच्चे देश का भविष्य हैं। उन्होने बताया कि हर तीसरे महीने में अभिभावकों के साथ बैठक करनी चाहिए, जिससे बच्चों के सुधार के बारे में जानकारी प्राप्त हो। उन्होने कहा कि जिस गांव से कम बच्चे स्कूल आते हैं, उन गांवों में जाकर अभिभावकों को प्रेरित करें एवं बच्चों का नामांकन करायें। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी अध्यापकों को बताया गया है कि जिस नक्षत्र में पैदा हुए हैं, उस नक्षत्र का पौधा लगायें। उन्होने अध्यापकों से कहा कि हर महीने बच्चों को 10 प्रश्न दिये जायें, जिसका उत्तर बच्चे खुद लिखेंगे एवं एक वर्ष पूरा होने पर अध्यापक द्वारा अधिक प्रश्नों के सही उत्तर देने वाले छात्रों को एक वर्ष का प्रश्नोत्तर पुस्तिका बनाकर उन बच्चों को देकर प्रोत्साहित करेंगे।
जिलाधिकारी ने कहा कि लेखपाल एवं सभी अधिकारी हर गांव में भ्रमण कर जो बच्चे स्कूल नही जा पा रहे हैं, उन कारणों का पता लगाकर उन बच्चों को गोद लें और स्कूल भेजें। जिलाधिकारी ने अध्यापकों से कहा कि 04 अप्रैल से लेकर 30 अप्रैल 2022 तक अधिक से अधिक बच्चों का नामांकन करायें, कोई बच्चा नही छूटने पाये।
इसी के साथ मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारी द्वारा स्कूल का भ्रमण किया गया एवं स्कूल में सभी व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया।
इस अवसर पर मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारी ने अधिक अंक पाने वाले छात्र प्रियांशु यादव, राजनन्दनी, जिया, अभिषेक प्रजापति, अंजली भारती, चन्दा चौहान आदि को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया।
बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारी को बैच, मोमेण्टों एवं कैप पहनाकर स्वागत किया गया। कम्पोजिट विद्यालय की प्रधानाचार्या ने ग्राम प्रधान को बैच और कैप लगाकर स्वागत किया।
इसी के साथ ही जनपद के समस्त परिषदीय विद्यालयों में मा0 मुख्यमंत्री जी के कार्यक्रम का लाइव टेलीकास्ट दिखाया गया।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment