.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: गांव-गांव पहुंच बीजेपी सरकार को सजा देने की अपील कर रहा है किसान मोर्चा


सरकार की वादाखिलाफी पर फिर से आंदोलन शुरू करने की तैयारी है- योगेंद्र यादव, किसान नेता

आजमगढ़: शहर के सिविल लाइन क्षेत्र में संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक व प्रेस वार्ता हुई। इस दौरान दिल्ली के किसान आंदोलन से जुड़े किसान नेता योगेंद्र यादव, हन्ना मोल्ला समेत अन्य लोग उपस्थित रहे। किसान नेताओं ने कहा कि बीजेपी सरकार ने किसानों के साथ धोखा किया और उनके खिलाफ काला कानून लाया। किसानों ने जब लंबा आंदोलन चलाया तो उनके खिलाफ प्रोपेगंडा चलाया गया। यहां तक कि पीएम ने उन्हें आंदोलन जीवी कहा। इसके अलावा आंदोलित किसानों को कभी पाकिस्तानी, कभी आतंकवादी, खालिस्तानी और न जाने क्या क्या कहा गया। वहीं 26 जनवरी 2021 को उन्हें बदनाम करने को लाल किले पर तिरंगे का अपमान कराया। 19 नवंबर को पीएम ने काला कानून वापस ले लिया।
योगेंद्र यादव ने कहा कि सरकार ने जो आश्वासन दिया था उसे पूरा नहीं किया, न ही एमएसपी के लिए कमेटी का गठन किया गया और न ही मुकदमे वापस लिए गए। शहीद 715 किसानों को मुआवजा नहीं दिया बल्कि न तो किसानों को कुचलने के मामले में अजय मिश्र टेनी को मंत्रिमंडल से हटाया और उनके आरोपित लड़के को बेल दिला दी गई। जबकि इसी मामले में किसान अभी जेल में है। इस प्रकार यह सरकार पूरी तरह से किसानों के खिलाफ है। इसलिए किसान मोर्चा प्रदेश में चुनाव को लेकर गांव गांव पहुंच कर किसान विरोधी बीजेपी सरकार के खिलाफ उसे सजा देने की अपील कर रहा है। मोर्चा किसी अन्य पार्टी के लिए वोट डालने को भी नहीं कह रहा। चुनाव बाद 14 मार्च को किसानों की एक बैठक कर सरकार के वादाखिलाफी के खिलाफ फिर से दूसरा आंदोलन शुरू करने की रूपरेखा तैयार होगी।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment