.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: जिले में भाजपा की इकलौती सीट अब बन गई है 'हॉट सीट'


पुत्र और वर्तमान भाजपा विधायक अरूणकांत से मुकाबला करने सपा से उतरे पूर्व सांसद रमाकांत

बेटे ने बोला विचारधारा की लड़ाई है,अब पार्टी करेगी फैसला

आजमगढ़: जिले की फूलपुर सीट से सपा ने पूर्व बाहुबली सांसद रमाकांत यादव को चुनाव मैदान में उतार दिया है। इस सीट पर अभी तक रमाकांत यादव के बेटे अरूण कांत भाजपा से विधायक हैं। ऐसे में यहां पर मुकाबला काफी रोचक होता दिख रहा है। हालांकि अभी तक भाजपा ने इस सीट पर प्रत्याशी के नाम की घोषणा नहीं की है। सपा प्रत्याशी रमाकांत यादव का प्रत्याशी बनाए जाने का पार्टी में विरोध भी है। पर चार बार के विधायक व चार बार के सांसद रमाकांत यादव को चुनावी दांव-पेंच बखूबी आता है। ऐसे में रमाकांत यादव का यह चुनाव दांव-पेंच बेटे के लिए मुसीबत पैदा कर सकता है। 2017 में जब पूरे प्रदेश में भाजपा की लहर चल रही थी उस समय भी सपा के गढ़ रहै इस जिले की जनता ने भाजपा के विजय रथ को रोकने का काम किया था। जिले की तीन विधानसभा सीटों पर भाजपा को मामूली मतों से हार का सामना करना पड़ा था। पर भाजपा विरोधी दलों का मानना है जिले की फूलपुर सीट पर रमाकांत यादव के वर्चस्व से ही उनके पुत्र अरूण कांत यादव विजयी हुए थे। अब इस बार फिर यदि भाजपा फिर से अरुणकांत को टिकट देती है तो बेटे को अपने पिता से ही मुकाबला करना पड़ सकता है। वहीं इस पूरे मामले में भाजपा के विधायक अरूण कांत यादव का कहना है कि निश्चित रूप से रमाकांत यादव हमारे पिता हैं। पर अब हम अपना निर्णय ले सकते हैं। परिवार भले ही एक है पर हम लोगों की विचारधारा एकदम अलग है। बेटे अरूण कांत का कहना है कि पार्टी टिकट देती है तो चुनाव लड़ने को तैयार हूं। गौरतलब है कि 2017 में फूलपुर विधानसभा में भाजपा को पहली बार विजय मिली है। वहीं इस सीट से रमाकांत यादव चार बार विधायक चुने गए हैं। यादव बाहुल्य यह सीट 2017 से पहले भाजपा छोड़कर सभी दलों के कब्जे में रही है। 2017 में यहां भाजपा प्रत्याशी अरूण कांत यादव चुनाव जीते। अब ऐसे में भाजपा को अपनी इस सीट को बचाने के लिए चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment