.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: राष्ट्रीय ओलमा कौंसिल ने दीदारगंज से हुजैफा आमिर को मैदान में उतारा


एएमयू के निवर्तमान छात्रसंघ सचिव व मौलाना आमिर रशादी के पुत्र हैं हुजैफा आमिर

सपा के पूर्व विधायक आदिल शेख का टिकट कटने से व्याप्त नाराजगी का मिलेगा फायदा

आज़मगढ़: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के यूनाइटेड डेमोक्रेटिक अलायन्स समर्थित राष्ट्रीय ओलमा कौंसिल के अधिकृत प्रत्याशियों की द्वितीय सूची कल देर रात जारी हुई। इस सूची में आज़मगढ़ की भी एक सीट का नाम है। यहां दीदारगंज सीट से ओलमा कौंसिल ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौ० आमिर रशादी के पुत्र और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय छात्रसंघ के निवर्तमान सचिव हुजैफा आमिर रशादी को अपना प्रत्याशी बनाया है। गौरतलब है की दीदारगंज सीट पर कौन्सिल पकड़ अच्छी रही है , 2012 के चुनाव में इसी सीट पर वर्तमान में बसपा से दावा ठोंक रहे भूपेंद्र सिंह मुन्ना ने ओलमा कौंसिल के टिकट पर चुनाव लड़ा था और लगभग 40,000 वोट पाए थे। इस बार इस सीट से सपा से पूर्व विधायक आदिल शेख का टिकेट कटने के बाद अल्पसंख्यक मतदाताओं में व्याप्त नाराजगी का फायदा उठाने की भी ओलमा कौंसिल की मंशा है। क्योंकि अल्पसंख्यक मतदाताओं की संख्या इस सीट पर अधिक है। राष्ट्रीय ओलमा कौंसिल के इस कदम से दीदारगंज का समीकरण बदलता हुआ नजर आ रहा है और जनता के बीच एक नई चर्चा शुरू हो गयी है। हुजैफा आमिर के मैदान में आने से यहां के समीकरणों पर कितना असर पड़ेगा ये तो 10 मार्च को पता चलेगा पर यह तो तय है कि क्षेत्र में चुनाव दिलचस्प ज़रूर हो गया है और लड़ाई चौतरफा होती दिख रही है। हुजैफा रशादी की पहचान एक तेज़ तर्रार छात्र नेता व वक्ता के रूप में होती है। हुजैफा एक दशक बाद जनपद आजमगढ़ का अलीगढ़ मुस्लिम विश्विद्यालय छात्रसंघ में प्रतिनिधित्व करने वाले रहे हैं और देश भर में विभिन छात्र आंदोलनों में उनकी भागीदारी रही है और इस कारण युवाओं में उनकी एक खास पहचान है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment