.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: जहरीली शराब से मरने वालों की बढ़ी संख्या,बोले डीएम लगेगा रासुका



प्रशासन ने 05 मौत की पुष्टि की,कई भर्ती,पुलिस चला रही सर्च आपरेशन

लोगों ने जाम लगा ठेका मालिक को एक प्रत्याशी का रिश्तेदार बताया,कार्यवाही की मांग की

आजमगढ़ : समय-समय पर जहरीली शराब का कहर जिले में टूटता रहा है सोमवार की सुबह से एक बार फिर यहां जहरीली शराब का कहर टूटा।जिले के माहुल क्षेत्र में और आसपास जहरीली शराब पीने से 09 लोगों की मौत हो जाना बताया जा रहा है जबकि 12 लोगों की हालत गंभीर बताई गई है। इनमें से कुछ की आंख की रोशनी भी चली गई है। यह पूरी घटना माहुल कस्बे में रविवार रात की है। सूत्रों ने बताया कि जिस ठेके से ग्रामीणों ने शराब खरीदी है। वह ठेका एक प्रत्याशी के भतीजे का है। ठेका माहुल पुलिस चौकी के बगल में है। जहरीली शराब से हुई इन मौतों को लेकर हाहाकार मचा तो ग्रामीणों ने सड़क जाम कर उस प्रत्याशी के खिलाफ नारेबाजी भी की। इधर खबर मिलते ही डीएम,एएपी समेत सीनियर अफसरों की टीम माहुल पहुंच गई । डीएम अमृत त्रिपाठी ने बताया कि 05 लोगों की मौत रिपोर्टेड है। कुछ की हालत गंभीर है। उनमें से 04 को जिला हॉस्पिटल में रेफर किया गया है। उनका इलाज चल रहा है। यह भी पता लगाया जा रहा है कि किन-किन लोगों ने इस ठेके लेकर शराब पी है। ठेके के सेल्समैन समेत 02 लोग हिरासत में है। उनसे पूछताछ की जा रही है। दोषियों पर रासुका की कार्रवाई की जाएगी। ग्रामीणों ने बताया कि रविवार रात को माहुल के सरकारी ठेके से आसपास के लोगों ने शराब पी थी। शराब पीने के कुछ देर बाद उनकी तबीयत बिगड़ने लगी। कुछ लोगों को खून की उल्टियां शुरू हो गईं। आनन-फानन में परिजन उनको नजदीकी अस्पताल ले गए। जब आसपास के कई लोगों को एक ही जैसी दिक्कतें हुई तो परिजन उन्हें अस्पताल लेकर पहुंचे। धीरे-धीरे पता चला कि सभी ने एक ही ठेके से एक ही ब्रांड की शराब खरीदकर पी थी। इसके बाद पुलिस और प्रशासनिक अमला हरकत में आया। उधर, पुलिस ने ग्रामीणों और आसपास के लोगों से पूछताछ की है। इसके साथ ही पुलिस और प्रशासन इलाके में सर्च अभियान चला रहा है ताकि ये पता लगाया जा सके कि रविवार को इस ठेके से और किन-किन लोगों ने शराब पी थी। जिससे समय रहते उनका इलाज कराया जा सके। ग्रामीणों के मुताबिक, जिन 09 लोगों की मौत हुई है, उनमें से 05 का अंतिम संस्कार कर दिया गया था। जबकि 04 शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है। मृतक एक ही पंचायत क्षेत्र के अलग-अलग वॉर्ड के थे। जिन 12 लोगों की तबीयत गंभीर है। वह भी अलग-अलग इलाकों के रहने वाले हैं। एसपी अनुराग आर्य ने बताया कि दो लोगों को हिरासत में लिया है, उनसे पूछताछ की जा रही है। हालांकि पुलिस केवल 03 मौतों की पुष्टि कर रही है। सोमवार दोपहर तक जहरीली शराब से 9 लोगों की मौत की चर्चा है। जबकि 12 की हालत गंभीर है। ऐसे में मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है।
घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने सड़क जाम कर दी। ग्रामीणों का कहना है कि पुलिस की मिलीभगत से ठेके पर शराब की बिक्री होती थी। किसी भी तरह की कोई रोक-टोक नहीं थी। यही कारण है कि ज्यादा मुनाफे के चक्कर में लोगों को जहरीली शराब सरकारी ठेके से बेची गई।



ग्रामीणों के अनुसार जहरीली शराब पीने से 09 लोगों की मौत हुई है। मरने वालों में फेकू सोनकर (32) पुत्र दीप चन्द सोनकर, झब्बू (45) पुत्र हुन्ना सोनकर, राम करन सोनकर (55) पुत्र लोटन, सतिराम (42) पुत्र हरिलाल, अच्छे लाल (40) पुत्र लोटन, बिक्रमा बिंद (50) पुत्र राजाराम, राम प्रीत यादव (55) पुत्र वासुदेव यादव शामिल हैं।
अब प्रशासन इस जहरीली शराब के चुनाव कनेक्शन की भी जांच कर रहा है। जिले में आखिरी चरण में 7 मार्च को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होना है। ऐसे में पुलिस जहरीली शराब से हुई मौतों के चुनावी कनेक्शन की भी जांच कर रही है। यह भी पता लगाया जा रहा है कि ग्रामीणों ने शराब खरीदकर पी थी या फिर उनको सस्ते में मिली या मुफ्त में बांटी गई थी। जहां आज ये घटना हुई वहां से करीब 20 किलोमीटर दूर मित्तूपुर गांव में भी बीते मई माह में जहरीली शराब से 30 से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी। घटना के बाद जिला प्रशासन ने अवैध शराब के कारोबार के खिलाफ अभियान चलाया था। ​​​​​​​आजमगढ़ में पुलिस और आबकारी टीम ने एक दिन पूर्व ही 20 फरवरी को भी नकली शराब बनाने वाले गिरोह को पकड़ा था। इस दौरान पुलिस ने 13 आरोपियों को पकड़ा। एसपी अनुराग आर्य ने बताया था कि गिरोह के तार मऊ, बलिया, गाजीपुर और देवरिया तक जुड़े हैं। गिरोह के लोग बाइक से नकली शराब बेचते थे। 1 साल में 30 करोड़ से ज्यादा के राजस्व का नुकसान किया है। आरोपियों के पास से डेढ़ लाख ढक्कन , 1020 लीटर रेक्टीफाइड स्प्रिट, 33 पेटी शराब, शराब की खाली 90 बोतलें, 2 किलो यूरिया और 11 मोबाइल फोन और एक बाइक मिली थी। एसपी ने बताया था कि इनके पास से कई प्रमुख शराब कंपनियों के ढक्कन भी मिले थे। यह लोग बोतलों से शराब निकालकर फिर दूसरा ढक्कन लगाते थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment