.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: चुनाव में नकली शराब बांटने की थी तैयारी, 13 तस्कर गिरफ्तार



सिधारी थाना व आबकारी विभाग की संयुक्त टीम ने सर्फुद्दीनपुर गांव में की छापेमारी

भारी मात्रा में अवैध शराब के साथ 01 लाख 40 हजार ढक्कन भी मिले

आजमगढ़: सिधारी थाना व आबकारी विभाग की संयुक्त टीम ने एफसीआइ गोदाम के पीछे सर्फुद्दीनपुर गांव में रविवार की सुबह छापेमारी कर भारी मात्रा में अवैध शराब, शराब बनाने के उपकरण, 11 मोबाइल फोन, 16,580 नकदी व बाइक बरामद की है। अवैध शराब को विधानसभा चुनाव में खपाने की योजना थी। उपनिरीक्षक संजय सिंह को मुखबिर से सूचना मिली कि शराब बनाने का कारोबार बड़े पैमाने पर चल रहा है। यहां देसी व अंग्रेजी शराब बनाकर बाइक से सप्लाई दी जाती है। इसकी जानकारी आबकारी टीम को देते हुए पुलिस टीम मौके की ओर रवाना हो गई। एफसीआइ गोदाम के पीछे सर्फुद्दीनपुर गांव में छापेमारी कर टीम ने हासपुर, तहबरपुर के अटल बिहारी बाजपेयी, कारीसाथ, जहानागंज के राजेंद्र यादव, पितंबरपुर, गंभीरपुर के सर्वेश कुमार, जयरामपुर, अतरौलिया के सचिन चौबे, समेदा, सिधारी के हंसराज यादव, सुरहन, दीदारगंज के राजेश, हेमजापुर, रानी की सराय के मनोज यादव, लक्षिरामपुर, कोतवाली के राकेश चौहान, छत्तरपुर, बरदह के राजेश, जाफरपुर, सिधारी के चंदन यादव, मझगावां, थाना रानी की सराय रामध्यान, सिधोली, सीतापुर के अरुण जायसवाल व मुंशीपुरा, मऊ के रवि प्रकाश गुप्ता को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस लाइन में राजफाश करते हुए पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने बताया कि चुनाव में सस्ती शराब उपलब्ध कराने के लिए तैयार किया जा रहा था। तस्कर बाइक से इसकी सप्लाई करते थे। एसपी नव बताया कि ये लोग नकली शराब बनाने के साथ ही ब्रांडेड शराब की शीशी में से शराब निकाल कर पानी मिला देते हैं और इन तरह के शीशियां तैयार कर लेते थे । ये रैकेट 05 जनपदों में फैला है और अनुमान के अनुसार सालाना 30 करोड़ का अवैध कारोबार होता था। पुलिस व आबकारी टीम की छापेमारी में मौके पर 1020 लीटर रेक्टीफाइड स्प्रिट, 20 लीटर गैलेन में अवैध रंगीन शराब, 33 पेटी में 1485 पौवा देसी अपमिश्रित शराब, सात बोरियों में लगभग 1.40 लाख ढक्कन, 90 खाली शराब की शीशी, दो किग्रा यूरिया, एक बाइक व विभिन्न कंपनियों के मोबाइल व 16580 रुपये बरामद हुए। पुलिस की पूछताछ में चंदन यादव व रवि प्रकाश गुप्ता ने बताया कि चुनाव में बढ़ते खपत को देखकर अपमिश्रित शराब बनाने का सामान लाया गया था। विधानसभा चुनाव में बांटने हेतु सस्ते दाम में शराब उपलब्ध कराते हैं। तीव्रता बढ़ाने के लिए यूरिया का प्रयोग किया जाता है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment