.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: टेट में सेंधमारी का प्रयास विफल,22 गिरफ्तार,नकदी,50 लाख के चेक बरामद




गिरफ्तार लोगों में कई विद्यालयों के प्रबंधक, अध्यापक ,डीआईओएस कार्यालय कर्मी भी

रामपुर के गिरोह ने प्रबंधकों संग फैलाया था जाल,08 फरार लोगों की तलाश

आजमगढ़: जिले में उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा में सेंधमारी की कोशिश को स्वाट और रानी की सराय पुलिस ने विफल करते हुए अभ्यर्थियों से मोटी रकम लेकर ठेके पर नकल कराने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने डीआईओएस कार्यालय के बाबू धर्मेन्द्र राय व 7 विद्यालयों के प्रबंधक समेत 22 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। जबकि दो प्रबंधक, अध्यापक सहित आठ लोग फरार है। गिरफ्तार आरोपियों में तीन महिलाएं भी शामिल है। पुलिस ने इनके कब्जे से 2.70 लाख नकद, करीब पचास लाख रूपये के चेक, ऐडमिट कार्ड और मार्कसीट, डायरी व 02 चारपहिया वाहन बरामद किया है। टेट की परीक्षा का एक बार पेपर लीक होने के बाद दूसरी बार रविवार को आयोजित हुई परीक्षा को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए पुलिस के साथ प्रशासन के अधिकारी जुटे हुए थे। करीब एक सप्ताह से स्वाट टीम लगातार प्रबंधकों और शिक्षकों की निगरानी में जुटी हुई थी। इसी दौरान स्वाट टीम प्रथम, व दारोगा ज्ञानचन्द्र शुक्ला को टेट परीक्षा में कई प्रबंधकों द्वारा अभ्यर्थियों से नकल के नाम पर धन उगाही का मामला प्रकाश में आया। इसी बीच पुलिस की टीमों को जानकारी मिली कि डीआईओएस कार्यालय का बाबू धर्मेन्द्र कुमार राय भी इसमें शामिल है। जानकारी मिलते ही पुलिस ने उसे दबोच लिया और पूछताछ शुरू किया तो कई विद्यालयों के नाम प्रकाश में आये जहां टेट परीक्षा की सुचिता प्रभावित हो सकती है। पुलिस ने इन विद्यालयों पर अतिरिक्त अधिकारियों व पुलिस की ड्युटी लगाई गयी जिससे की परीक्षा की सुचिता बनी रहे। जांच के बाद पुलिस की टीम ने मुख्य सरगना डीआईओएस कार्यालय के बाबू, सात विद्यालयों के प्रबंधक समेत 22 आरोपियों को गिरफ्तार किया। पकड़े गए लोगों में बेदप्रकाश यादव पुत्र स्व0 बलिराम यादव निवासी भदुली थाना सिधारी, सूर्यप्रकाश यादव पुत्र हरिशचन्द यादव निवासी आजमपुर थाना कन्धरापुर ,देवेन्द्र यादव पुत्र बृजभान यादव निवासी अराजी अजगरा मसरकी थाना रौनापार, सहर्ष राय उर्फ गोल्डी राय पुत्र सुनील राय निवासी कुकुड़ीपुर थाना मुबारकपुर ,
धर्मेन्द्र यादव पुत्र नन्दलाल यादव निवासी आजमपुर थाना कन्धरापुर, हरेन्द्र यादव पुत्र रामअवध यादव निवासी धर्शन थाना कन्धरापुर, धर्मेन्द्र कुमार राय उर्फ बब्लू राय पुत्र रामचेत राय निवासी देवड़ा दामोदरपुर थाना कन्धरापुर ,
कमलेश कुमार पुत्र शंकर राम निवासी हरैया थाना जीयनपुर,तारा सिंह पटेल पुत्र खुरचुन्द पटेल निवासी दाउदपुर थाना रानी की सराय , प्रशान्त राय पुत्र स्व0 संजय राय निवासी श्रीकान्तपुर थाना कन्धरापुर, इन्द्रेश यादव पुत्र देवेन्द्र यादव निवासी आहोपट्टी थाना कोतवाली, हरेन्द्र यादव पुत्र रामप्रसाद यादव निवासी सेठवल थाना रानी की सराय, अरविन्द कुमार यादव पुत्र सुबेदार यादव निवासी खलिलाबाद थाना रानी की सराय सभी जनपद आज़मगढ़ तो वहीं नीरज कुमार सकसेना पुत्र नरेश कुमार सकसेना निवासी ज्वाला नगर थाना सिविल लाईन, रविन्द्र यादव पुत्र किशन लाल निवासी पनवड़िया थाना सिविल लाईन,सारिक जावेद पुत्र नासिम जावेद निवासी सहबादगेट थाना कोतवाली रामपुर, जितेन्द्र सिंह पुत्र बलिष्टर सिंह निवासी अहमदनगर थैगा थाना सिविल लाईन , अर्शी पत्नी सारिक जावेद निवासी सहबादगेट थाना कोतवाली रामपुर ,साजिदा पत्नी जफर खान निवासी सहबादगेट थाना कोतवाली रामपुर ,नाजिया पत्नी मुकर्रम अली निवासी बजरिया खान , जफर खान पुत्र आलम खान ग्राम साहबाद गेट थाना कोतवाली रामपुर ,अरविन्द गुप्ता पुत्र जगअवतार गुप्ता निवासी राजद्वारा थाना कोतवाली रामपुर सभी जनपद रामपुर के निवासी हैं। वहीं फरार अभियुक्तों में मुकेश राय उर्फ रिंटू राय पुत्र हृदयनरायन राय निवासी मानपुर थाना बिलरियागंज, सुनील कुमार यादव पुत्र अज्ञात निवासी आहोपट्टी थाना कोतवाली, तुसार सिंह पुत्र अज्ञात पता (देवदास इण्टर कालेज संवेदा थाना जहानागंज ) (प्रबंधक), धीरज राय पुत्र अज्ञात पता (कर्मचारी विपलव विक्रम राय महिला महा विद्यालय हरैया जीयनपुर) , धर्मेन्द्र पुत्र अज्ञात निवासी हाजीपुर बम्भौर थाना मुबारकपुर ,अनन्त कुमार पुत्र अज्ञात निवासी हीरापट्टी थाना कोतवाली, सिकन्दर यादव पुत्र अज्ञात ( प्रबन्धक महात्मा इण्टर कालेज सेठवल) निवासी सेमरहा थाना रानी की सराय ,जगजीवन पुत्र अज्ञात पता अज्ञात (अध्यापक , हरिश चन्द्र इण्टर कालेज कंधरापुर) बताए गए हैं। पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने बताया कि ये संगठित गिरोह है। जो टेट परीक्षा में प्रति छात्र तीन लाख रूपये में नकल कराने का ठेका लिया था। इसके लिए इन लोगों ने कुछ रूपये एडवांस में लिये थे वहीं छात्रों का मार्कसीट आदि को अपने पास रख लिया था। इसमें रामपुर जनपद के नौ लोग भी गिरफ्तार हुए है। इनके पास से 2.70 लाख नकदी, भारी मात्रा में मार्कशीट, 48 लाख रूपये के 6 चेकबुक सहित अन्य सामान बरामद किया गया है। इन सभी लोगों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जा रही है। गिरफ्तार विद्यालयों के प्रबंधकों के स्कूल के को ब्लैक लिस्ट में डालने के लिए डीएम को संस्तुति भेजी गयी है। पुलिस अधीक्षक ने इस मामले के पर्दाफाश में अहम भूमिका निभाने वाले दरोगा ज्ञानचन्द्र शुक्ला को 20 हजार रूपये और गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को 25 हजार रूपये पुरस्कार देने की घोषणा भी की।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment