.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: त्रिपुरा में अधिवक्ताओं,पत्रकारों पर दर्ज हुए मुकदमें को वापस लेने की मांग की


अल्पसंख्यकों पर हमले त्रिपुरा सरकार के संरक्षण में हुए हैं- मिर्जा बरकत उल्लाह बेग

अल्पसंख्यकों पर हिंसा के विरोध में कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग ने राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा

आजमगढ़: त्रिपुरा में अल्पसंख्यक समुदाय पर हुए हिंसा के विरोध में मंगलवार को शहर कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के अध्यक्ष मिर्जा बरकत उल्लाह बेग के नेतृत्व में राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा गया। जिसमें वहां के हाईकोर्ट के अधिवक्ताओं, पत्रकारों पर दर्ज हुए मुकदमें को वापस लेने की मांग की गई। श्री बेग ने कहाकि त्रिपुरा में मुस्लिम समाज के लोगों पर कुछ अराजकतत्वों ने हमले किए। जिसके चलते वहां दर्जनों मस्जिदें, दुकानें क्षतिग्रस्त हो गई। उन्होने त्रिपुरा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहाकि यह सब हमले वहां की सरकार के संरक्षण में हुए। प्रदेश सचिव संदीप कपूर ने कहाकि हमलावरों पर सरकार का पूरा संरक्षण था जिसके चलते दोषियों पर अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की गई। उल्टे सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता एहतेशाम हाशमी अमित श्रीवास्तव, अंसार इंदौरी, मुकेश पत्रकार, श्याम मीरा सिंह पर यूएपीए के तहत मुकदमा दर्ज कर दिया गया। सरकार ने अगर मुकदमें को वापस नहीं लिया लड़ाई और तेज होगी। ज्ञापन सौंपने वालों में अब्दुर्हमान, मसदू अहमद, प्रदीप यादव, ओमप्रकाश यादव, नजम, जावेद, अखलाख अहमद, मूलचंद चौहान, शीला भारती, पिंटू राय, मिर्जा नदीम बारी, अफजल अहमद, जिशान अहमद, आलमगीर, ताहिर, सबीहा अंसारी, नजम शमीम, तेज बहादुर यादव आदि मौजूद रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment