.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: गलत मेडिकल रिपोर्ट बनी तो मेडिकल अफसर पर दर्ज होगा एफआईआर- डीएम 


डीएम ने कोविड वैक्सीनेशन डाटा फीडिंग में लापरवाही पर कार्रवाई की चेतावनी


फीडिंग एक सप्ताह में ना हुई तो प्रतिकूल प्रविष्टि कर वेतन रोकेंगे

आजमगढ़: डीएम राजेश कुमार की अध्यक्षता में मंगलवार की देर शाम कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक हुई। जिसमें विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान एवं दस्तक अभियान माह अक्टूबर की समीक्षा की गई। डीएम ने कोविड टीकाकरण की समीक्षा में सभी एमओआइसी ( प्रभारी चिकित्सा अधिकारी) को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि वैक्सीन की बर्बादी को किसी भी कीमत पर क्षमा नहीं किया जाएगा। निर्देश दिए कि गलत मेडिकल रिपोर्ट बनाने पर एफआइआर दर्ज कर संबंधित एमओआइसी के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। कोविड-19 वैक्सीनेशन के डाटा फीडिंग में लापरवाही अथवा कम डाटा फीडिंग पाए जाने पर संबंधित एमओआइसी के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। संबंधित डाटा फीडिंग का कार्य एक सप्ताह में न करने पर संबंधित को प्रतिकूल प्रविष्टि दी जाएगी और वेतन रोक दिया जाएगा। जनपद स्तरीय अंतर्विभागीय समीक्षा में 18 अक्टूबर से 17 नवंबर तक और दस्तक अभियान 18 अक्टूबर से एक नवंबर तक सफल संचालन के निर्देश दिए। कहा कि अभियान चलाकर डेंगू, मलेरिया एवं वायरल फीवर और अन्य जलजनित बीमारियों से ग्रसित मरीजों को चिह्नित करते हुए उनका इलाज एवं टीकाकरण सुनिश्चित किया जाए। सभी एमओआइसी को निर्देश दिए कि सभी सीएचसी व पीएचसी की व्यवस्था को सु²ढ़ करें। कहा कि लगातार सफाई एवं एंटी लार्वा दवा, ब्लीचिग पाउडर का छिड़काव एवं फागिग कराना सुनिश्चित किया जाए। सभी सीएससी व पीएससी के दरवाजों को ठीक कराएं एवं खिड़की पर जाली लगाना सुनिश्चित करें। सीडीओ आनंद कुमार शुक्ला, एडीएम(प्रशासन) नरेंद्र सिंह, सीएमओ डा. इंद्र नारायण तिवारी, एसीएमओ डा. संजय, डा. वाईके राय, जिला क्षय रोग अधिकारी डा. इफ्तेखार अहमद थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment