.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: तत्कालीन खाद्य विपणन अधिकारी निलंबित,जांच शुरू


राजू प्रसाद पटेल इस समय जिला खाद्य विपणन अधिकारी सिद्धार्थनगर थे

विभागीय कार्रवाई के लिए संभागीय खाद्य नियंत्रक लखनऊ जांच अधिकारी नामित

आजमगढ़: खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 मेें न्यूनतम समर्थन मूल्य समर्थन याेजना के अंतर्गत आजमगढ़ में मिलों के संबद्धीकरण और सीएमआर (धान कुटाई केे बाद चावल) संप्रदान घोर लापरवाही बरते जाने के आरोप में तत्कालीन डिप्टी आरएमओ (जिला खाद्य विपणन अधिकारी)(वर्तमान में सिद्धार्थनगर) राजू प्रसाद पटेल को शासन ने 30 सितंबर को निलंबित करते हुए संभागीय खाद्य नियंत्रक लखनऊ कार्यालय से संबद्ध कर दिया है। राजू प्रसाद पटेल इस समय जिला खाद्य विपणन अधिकारी सिद्धार्थनगर थे। उनकेे विरुद्ध विभागीय कार्रवाई के लिए संभागीय खाद्य नियंत्रक लखनऊ को जांच अधिकारी नामित किया गया है। आयुक्त खाद्य एवं रसद विभाग पी. गुरु प्रसाद ने जिलाधिकारी व संभागीय खाद्य नियंत्रक आजमगढ़ सहित अन्य विभागीय अधिकारियों को निलंबन की कार्रवाई के संबंध में आदेश जारी किया है। जिसमें बताया गया है कि वर्ष 2020-21 मेें न्यूनतम समर्थन मूल्य समर्थन याेजना के अंतर्गत आजमगढ़ में 24 सितंबर 2021 तक कुल एजेंसियों का 5511.41 एमटी सीएमआर केंद्रीय पूल में प्रेषित किया जाना शेष है। जिसमेें से लगभग 602.84 एमटी सीएमआर खाद्य विभाग की विपणन शाखा का शेष है। इससे स्पष्ट है कि तत्कालीन खाद्य विपणन अधिकारी राजू प्रसाद पटेल ने मिला के संबद्धीकरण एवं सीएमआर संप्रदान में खरीफ विपणन सत्र 2020-21 के लिए निर्गत धान क्रय नीति के अनुरूप कार्यवाही नहीं की गई, जिससे सीएमआर का संप्रदान केंद्रीय पूल में तेजी से नहीं हो सका। इससे राज्य सरकार एवं क्रय एजेंसियों की काफी धनराशि अवरुद्ध है। इससे स्पष्ट है जनपदीय अधिकारी होने के बाद भी राजू प्रसाद पटेल ने समुचित निरीक्षण एवं पर्यवेक्षण नहीं किया। उनके कर्तव्यों के प्रति शिथिल होने का स्पष्ट प्रमाण है, जिसके लिए वह दोषी हैं।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment