.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: अचानक पालिका कार्यालय पंहुचे कमिश्नर , गायब मिले 10 का कटेगा वेतन


कुछ कर्मी 2-3 हफ्ते से थे अनुपस्थित, वेतन काटने और स्पष्टीकरण लेने का दिया निर्देश

आज़मगढ़ 27 सितम्बर -- मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने कार्यालयों के औचक निरीक्षण के क्रम में सोमवार को नगर पालिका परिषद आज़मगढ़ का औचक निरीक्षण किया, जहॉं कुल 10 कर्मचारी अनुपस्थित मिले, जिसमें कुछ कर्मचारी 2-3 सप्ताह से लगातार अनुपस्थित थे। मण्डलायुक्त श्री पन्त ने इतनी बड़ी संख्या में कर्मचारियों के अनुपस्थित मिलने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए अधिशासी अधिकारी विकास कुमार को अनुपस्थित कर्मचारियों का उनकी अनुपस्थित तिथियों का वेतन तत्काल बाधित करते हुए उनसे स्पष्टीकरण प्राप्त कर संस्तुति सहित उपलब्ध कराये जाने का निर्देश दिया। इसके साथ ही उन्होंने आगाह किया कि स्पष्टीकरण सन्तोषजनक पाये जाने के उपरान्त ही बाधित वेतन को आहरित किये जाने की अनुमति दी जायेगी। मण्डलायुक्त श्री पन्त द्वारा किये गये निरीक्षण में पाया गया कि कर निर्धारण अधिकारी भरत लाल एवं लिपिक युवराज सोनकर 23 सितम्बर से, राजस्व निरीक्षक अनुज कुमार गुप्ता 25 सितम्बर से, एलआई पुरेन्द्र सिंह 7 सितम्बर से, राजद्वार साहब लाल 01 सितम्बर से, चौकीदार रामकेश 21 सितम्बर से लागातार अनुपस्थित चल रहे हैं। इनके अलावा राजस्व निरीक्षक अनूप कुमार भारती, चालक सुरेन्द्र यादव, लाइट प्यून विनोद कुमार गौड़ तथा चपरासी संजय कुमार गौंड़ भी निरीक्षण की तिथि में अनुपस्थित पाये गये। मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने कहा कि कार्यालयों में अधिकारियों एवं कर्मचारियों की समय से उपस्थिति सुनिश्चित कराने तथा शासकीय कार्यों के समयबद्ध रूप से सम्पादित कराये जाने हेतु कार्यालयों का नियमित रूप से आकस्मिक निरीक्षण होता रहेगा। उन्होंने समस्त मण्डलीय एवं जनपदीय कार्यालयों के अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे स्वयं कार्यालय में समय से आयें तथा अधीनस्थ अधिकारियों एवं कर्मचारियों की भी समय से उपस्थिति सुनिश्चित कराते हुए शासकीय कार्यों का समयबद्ध रूप से सम्पादन करायें।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment