.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: गाजर घास उन्मूलन हेतु कृषि विकास केंद्र द्वारा चलाया गया अभियान



16 से 22 अगस्त 2021 है 16 वाँ राष्ट्रीय गाजर घास जागरूकता सप्ताह

आज़मगढ़: आचार्य नरेन्द्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय, कुमारगंज, अयोध्या के अधीन संचालित कृषि विज्ञान केन्द्र आजमगढ़ द्वारा 16 वाँ राष्ट्रीय गाजर घास जागरूकता सप्ताह दिनांक 16 से 22 अगस्त 2021 में चलाया जा रहा है। उक्त अभियान के अंतर्गत दिनांक 19-08-2021 को ग्राम लच्छिरामपुर विकास खंड रानी की सराय, जनपद आजमगढ़ में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। वॉन्टेड सिर्फ मुर्दा की तर्ज पर गाजर घास का समूल नष्ट करने हेतु नियंत्रण व प्रबन्धन की समग्र विधियों पर विस्तार से चर्चा की गई। केन्द्र के प्रभारी अधिकारी डा आर के सिंह ने किसानों को इसके विनाशक गुण जैसे प्राकृतिक जैव विविधता को नष्ट करना, सभी प्रकार की भूमियों, जलवायु व मौसम में बढ़ने, फूलने, फलने तथा पकने की क्षमता, बीज का तुरंत जमाव इसकी खतरनाक खरपतवार की विशिष्टता है जिससे इसका अनवरत फैलाव व फसलों में नुकसान जारी है तथा पर्यावरण को भी हानि पहुंचा रहा है। डाॅ रूद्र प्रताप सिंह, वरिष्ठ वैज्ञानिक फसल सुरक्षा ने खेतों में फैल चुके गाजर घास को फूल बनने से पहले हरी खाद बनाने, जैविक नियंत्रण हेतु मैक्सिकन बीटल (जाइगोग्रामा बाइकोलोराटा) का संरक्षण व संवर्धन, इसके परागकणों से मनुष्यों में होने वाली दमा जैसी जानलेवा बीमारी, त्वचा स्पर्श से शरीर में एलर्जी व अन्य गम्भीर बिमारियों के बारे विस्तार से जानकारी दी। गांव में पशुशाला एवं घरों के दरवाजे के पास तक उगे हुए गाजर घास को देखकर वैज्ञानिकों ने काफी चिंता वयक्त की तथा सभी के सहयोग से कुछ पौधों को उखाड़कर इसके दुष्प्रभाव के बारे में जानकारी देते हुये लोगों को जागरूक किया। ग्रामीण कृषि मौसम सेवा योजना के अंतर्गत कार्यरत मौसम प्रेक्षक उपमन्यु सिंह ने मौसम पूर्वानुमान की जानकारी से मिलने से होने वाले लाभ उठाने तथा सूचना प्राप्ति हेतु लोगों से जुड़ने के लिए किया। इस अवसर पर अमित, सदानंद, अविनाश, अवधनरायन सहित कई प्रसार कार्यकर्ताओं के साथ 25 से अधिक किसान मौजूद रहे ।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment