.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: अवैध मतांतरण पर रोक को बने केंद्रीय कानून: आलोक कुमार


विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष ने कहा राम मंदिर का गर्भ गृह 2024 में पूरा हो जाएगा

सरकार मठ-मंदिरों, धार्मिक संस्थाओंं को नियंत्रण से मुक्ति दिला हिंदू समाज को सौंपे

आजमगढ़: विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने कहाकि अवैध मतांतरण एक राष्ट्रीय अभिशाप है, जिससे मुक्ति मिलनी चाहिए। इस पर राेक लिए 11 राज्यों में तो कानून हैं लेकिन समस्या और षडयंत्र राष्ट्रव्यापी है। इसके लिए केंद्रीय कानून बनना चाहिए, तभी इस अभिशाप से मुक्ति मिल सकती है। सर्वोच्च न्यायालय के कई निर्णयों व वर्तमान परिस्थितियाें से भी स्पष्ट हो चुका है कि केंद्र सरकार को इस बारे में और विलंब नहीं करना चाहिए। हमने हिंदू समाज से भी आह्वान किया है कि भारत विरोधी एवं हिंदू द्रोही षडयंत्रों पर सजग निगाहें रखकर रोक लगाएं। आलोक कुमार रविवार को दो दिवसीय गाेरक्ष प्रांत की बैठक के बाद हरिश्चंद्र मिश्रा पब्लिक स्कूल में मीडिया से मुखातिब थे। उन्हाेंने कहा कि केंद्र सरकार से कहा हूं कि एक केंद्रीय काननू बनाकर मठ-मंदिरों एवं धार्मिक संस्थाओंं को सरकार नियंत्रण से मुक्ति दिलाकर हिंदू समाज को सौंपा जाए। यह भी बताया कि अयाेध्या में राम मंदिर का गर्भ गृह 2024 में पूरा हो जाएगा। रामजी विराजमान हो जाएंगे। आमजन को दर्शन मिलने लगेगा। विश्व हिंदू परिषद श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के एक सप्ताह पूर्व से बाद तक स्थापना दिवस मनाएगा। उसमें कोरोना से रक्षा, अवैध मतांतरण पर रोक एवं मठ-मंदिरों की मुक्ति का संकल्प शामिल होगा। इस दौरान रामजन्म भूमि को हिंदू समाज से जुड़े लोगों के ध्यान में लाया जाएगा। उन्होंने कहाकि विश्व हिंदू परिषद किसी भी सियासीदल का समर्थन नहीं करता है। उसे वोट देने को जरूर कहेंगे जो हिंदू समाज के लिए काम करेगा। रामजन्म समर्पण निधि में घोटाले के आराेप पर कहाकि अंसारी व पाठक के बीच जमीन खरीद का मामला था। दोनों पक्षों के बीच बातचीत से मामला सुलझ चुका है। किसी प्रकार घोटाला नहीं हुआ है। पुलिस की जांच का सामना करने को हम तैयार हैं। जनसंख्या कानून पर कहाकि एक नहीं बल्कि दो बच्चों पर कानून होना चाहिए।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment