.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: यातायात नियमों का पालन कर नजीर पेश करें, फिर करें सख्ती- डीआईजी


डीआईजी अखिलेश कुमार ने समीक्षा बैठक में कसे पेंच, कहा सिटिजन चार्टर लागू करें

पक्षकारों को थाने बुलाने पर जताई आपत्ति, बोले सीओ, इंस्पेक्टर खुद मौके पर जाएं

आजमगढ़ : डीआइजी अखिलेश कुमार ने मंगलवार देर शाम अपराध समीक्षा बैठक में अपनी प्राथमिकताएं स्पष्ट कर दीं। उन्होंने कहाकि मेरे लिए बकरी चोरी व बड़े वाहनों का चोरों के हाथ लगना दोनों ही महत्वपूर्ण है। ऐसे में रिपोर्ट दर्ज होने के साथ ही खुलासा व बरामदगी महत्वपूर्ण हो जाती है। सिटीजन चार्टर को जमीन पर उतारें, जिससे लोगों को थाने, पुलिस चौकियों पर भटकना नहीं पड़े। यह स्पष्ट कर दिया कि एक फार्मेट में फिट होकर काम करें तो अपराध पर अंकुश लगाने के साथ जनता का भरोसा जीत पाएंगे। पुलिस उपमहानिरीक्षक कहाकि पुलिस लाइंस स्थिति सभागार में अपराध समीक्षा बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहाकि ककरीब एक हजार विवेचनाएं लंबित हैं। एक माह में इसका ग्राम पांच सौ पर आ पहुंचना चाहिए। मुकदमों की जांच कम होंगी तो उसके निस्तारण में गुणवत्ता आएगी। सीओ एवं इंस्पेक्टर को स्पष्ट कर दिया कि विवाद होने पर मौके पर जाएं। पक्षकारों को थाने पर बुलाकर विवाद की वजह जानने को मैं अपराध समझता हूं। मौके पर वादी, प्रतिवादी के अलावा जनसामान्य लोगों से फीडबैक लेंगे तो समाधान आसानी से निकल आएगा। एसपी से कहाकि फोर्स की तैनाती में जरूरतों का ध्यान जरूर रखा जाए। यातायात नियमों के प्रति मातहतों को आगाह किए। कहाकि पुलिस पहले से ट्रैफिक नियमों का पालन करके नजीर पेश करे। उसके बाद सख्ती करेंगे तो जनता से सराहना मिलेगी। एनसीआर की गहराई से जाचं व निस्तारण को क्राइम कंट्रोल का मूल मंत्र बताया। एसपी सुधीर कुमार सिंह, एएसपी पंकज पांडेय, सिद्धार्थ, सुधीर जायसवाल समेत सभी सीओ व इंस्पेक्टर मौजूद रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment