.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: त्योहारों, कांवड़ यात्रा को सकुशल सम्पन्न कराने को प्रशासन हुआ सतर्क


कमिश्नर और डीआईजी ने तैयारियों का लिया जायजा

महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर दिये आवश्यक दिशा निर्देश

आज़मगढ़ 13 जुलाई -- मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त एवं डीआईजी सुभाष चन्द्र दूबे ने आगामी दिनों पड़ने वाले त्योहारों, कांवड़ यात्रा आदि अवसरों पर शांति एवं सुरक्षा व्यवस्था, साफ सफाई, आवागमन की सुगमता, विद्युत आपूर्ति सहित अन्य समस्त व्यवस्थाओं को सुदृढ़ रखते हुए प्रत्येक आयोजनों को शांतिपूर्ण माहौल में सम्पन्न कराने हेतु की गयी व्यवस्थाओं का जायजा लिया। मण्डलायुक्त श्री पन्त ने मंगलवार को अपने कार्यालय के सभागार में जनपदीय अधिकारियों के साथ आयोजित उक्त समीक्षा बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि कांवड़ियों द्वारा जिन घाटों से जल लिया जाना है, जिन शिवालयों में जल अर्पण किया जाना है और जिन मार्गों से उनका आवागमन होता है, उन सभी मार्गों, घाटों और शिवालयों के रूटों का सम्बन्धित एसडीएम, सीओ और थानाध्यक्ष तत्काल भ्रमण कर लेें तथा यह सुनिश्चित कर लें कि कांवड़ यात्री जिन स्थानों पर रात्रि विश्राम करेंगे वहाॅं पर सभी व्यवस्थायें चुस्त दुरुस्त हों। उन्होंने निर्देश दिया रूटों के भ्रमण में इस बात का विशेष ध्यान दिया जाय कि जहाॅं कहीं भी बिजली के लटकते हुए मिलें उन्हें तत्काल ठीक करा दें ताकि किसी प्रकार की कोई अप्रिय घटना घटित होने की संभावना समाप्त हो सके। मण्डलायुक्त श्री पन्त ने कहा कि कुछ लोग एवं कुछ संस्थायें भी कांवड़ यात्रियों को के ठहरनेएवं उनके खान पान की व्यवस्था करती हैं, ऐसी स्थिति में उन पर भी सतर्क नज़र रखना जरूरी है। उन्होंने निर्देश दिया कि कांवड़ यात्रा में कोई अश्लील गाना या किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाला गाना कदापि नहीं बजना चाहिए। उन्होंने कहा कि एक साल के गैप के बाद कांवड़ा यात्रा निकाली जायेगी, परन्तु इसके लिए शासन के निर्देशानुसार कोविड-19 की गाइडलाइन का अनुपालन जरूरी होगा।
मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने बकरीद के त्योहार के सम्बन्ध में उपजिलाधिकारियों एवं पुलिस के अधिकारियों को निर्देश दिया कि जिन स्थानों पर कुर्बानी प्रतिबन्धित है वहाॅं कुर्बानी नहीं होनी चाहिए। इसके साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाय कि प्रतिबन्धित पशुओं की कुर्बानी किसी भी दशा न होने पाये। मण्डलायुक्त श्री पन्त ने डीपीआरओ तथा समस्त अधिशासी अधिकारियों को निर्देशित किया कांवड़ यात्रा, बकरीद एवं अन्य त्योहारों पर ग्रामीण क्षेत्रों एवं नगरीय क्षेत्रों में सफाई व्यवस्था पर विशेष ध्यान दें। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कुर्बानी के अवशेषों को डम्प करने हेतु गड्ढे खुवायें। श्री पन्त समस्त अधिशासी अधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने अपने क्षेत्रों में दवाओं बिलीचिंग पाउडर आदि का छिड़काव लगातार कराये ताकि संक्रमण फैलने से बचा जा सके। उन्होंने पानी की सप्लाई निर्बाध्य रूप से किये जाने का भी निर्देश दिया।
डीआईजी सुभाष चन्द्र दूबे ने बैठक में निर्देशि दिया सभी क्षेत्राधिकारी एवं थानाध्यक्ष इस बात का विशेष ध्यान रखें कि बकरीद में सार्वजनिक स्थलों पर कुर्बानी न होने पाये। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि सावन माह में नागंपचमी मौके पर तथा शुक्रवार को अदा की जाने वाली जुमे की नमाज के समय विशेष सतर्कता बरती जाये। डीआईजी श्री दूबे ने यह भी कहा कि कतिपय राजनैतिक दलों द्वारा तहसीलों पर 15 तारीख को धरना प्रदर्शन का कार्यक्रम प्रस्तावित है, इसलिए इस ओर विशेष सतर्कता बरती जाये।
जिलाधिकारी राजेश कुमार ने बैठक में सभी उपजिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि कांवड़ रूट का भ्रमण पहले ही कर लें, रूटों पर जो बाधायें या कमियाॅं हैं उसे तत्काल दूर कर लें। उन्होने कहा कि सुनिश्चित किया कि कांवड़ा यात्रा हर हालत में निर्धारित रूट से ही गुजरे। इसके अलावा हाईवे पर रूट डायवर्जन हेतु बैरिकेटिंग लगायी जाय और कांवल यात्रियों के लिए सुनिश्चित रूट दिया जाय। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि घाटों और शिवालयों पर रोशनी की पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए। उन्होंने कहा घाटों पर पुलिस निगरानी की व्यवस्था की जाय तथा घाटों पर जहाॅं पानी अधिक हो वहाॅं रस्सी लगाई जाय और रस्सी के ऊपर रेडियम स्टीकर लगाया जाय ताकि रात्रि में पता चल सके कि इसके आगे पानी अधिक है। बैठक में पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने भी आवश्य दिशा निर्देश दिया।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी नरेन्द्र सिंह, एसपी ग्रामीण सिद्धार्थ, एसपी सिटी पंकज कुमार पाण्डेय, एसपी ट्रैकिफ सुधीर जायसवाल, सभी उपजिलाधिकारी, क्षेत्राधिकारी, अधिशासी अधिकारी सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment