.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: बसपा की सदस्यता से सामूहिक रुप से दिया त्याग पत्र


अपने नेता रामअचल राजभर को बिना कारण, बिना पक्ष सुने पार्टी से निकाले जाने पर क्षुब्ध थे

आजमगढ़: बहुजन समाज पार्टी में अपना विश्वास रखने वाले राजभर समाज के लोगों की बैठक बृहस्पतिवार को सिधारी स्थित एक होटल के सभागार में रामकृष्ण राजभर की अध्यक्षता में हुई। जिसमें बसपा की प्राथमिक सदस्यता से सामूहिक रुप से सदस्यों ने त्याग पत्र दिया।बसपा की प्राथमिक सदस्यता से त्याग पत्र देने वालों का कहना था कि बसपा के संस्थापक कांशी राम के साथ काम करने वाले पूर्व राष्ट्रीय सचिव, प्रदेश अध्यक्ष, पांच बार विधायक और चार बार कैबिनेट मंत्री रह चुके रामअचल राजभर को बिना कारण, बिना पक्ष सुने उपेक्षाकृत रवैया अपनाते हुए बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती द्वारा निष्कासित कर दिया गया है। यह अत्यंत निंदनीय और राजभर समाज के लिए अपमानजनक, सम्मान और स्वाभिमान के खिलाफ है। कहा कि अभी जल्द ही 19 जनवरी 2021 को राष्ट्रीय अध्यक्ष के सम्मान में रामअचल राजभर जेल चले गए, लेकिन बसपा के सम्मान के साथ समझौता नहीं किया। ऐसा व्यक्ति कैसे अनुशासनहीन हो सकता है। इससे क्षुब्ध होकर निर्वमान और पूर्व पदाधिकारियो ने बसपा की प्राथमिक सदस्यता से सामूहिक रुप से त्याग पत्र दे दिया। त्याग पत्र देने वालों में रामकिशुन राजभर, प्रकाश चंद्र राजभर, हीरालाल राजभर, धर्मेंद्र राजभर, चंद्रभान राजभर, उमेश राजभर,राधेश्याम राजभर, शशिभूषण राजभर, कंचन राजभर, प्रभु राजभर, चंद्रभान राजभर, अधिवक्ता रामबृज राजभर,अधिवक्ता कमलेश राजभर, तेजबहादुर राजभर शामिल है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment