.

.

.

.

.

.

.

.
.

युद्धस्तर पर कराएं निर्माण कार्यों को, अब नहीं चलेगी कोई बहानेबाजी: मण्डलायुक्त


मण्डलायुक्त ने की निर्माण कार्यों तथा कर करेत्तर की समीक्षा
 

कई कार्यदायी संस्थाओं के कार्य सन्तोषजनक नहीं, व्यक्त की नाराजगी

आज़मगढ़ 15 जून -- मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने कहा है कि मण्डल के जनपदों में निर्माणाधीन परियोजनाओं को युद्धस्तर पर कार्य कराते हुए निर्धारित समय सीमा के अन्दर पूरा करना सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी का प्रकोप गत माह से ही लगभग समाप्त है, इसलिए प्रगति कम मिलने पर अब कोई बहानेबाजी नहीं चलेगी। मण्डलायुक्त श्री पन्त मंगलवार को अपने कार्यालय के सभागार में 50 लाख व उससे अधिक लागत की निर्माणाधीन परियोजनाओं के साथ ही 50 करोड़ से अधिक लागत वाले निर्माण कार्यों तथा कर करेत्तर एवं अन्य राजस्व कार्यों की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। समीक्षा के दौरान कई निर्माणाधीन परियोजनाओं में बजट उपलब्ध होने के बावजूद प्रगति काफी कम मिलने पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए सम्बन्धित कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारियों को निर्देशित किया कि इन परियोजनाओं पर विशेष ध्यान देकर मानक और गुणवत्ता के साथ समय से पूरा करायें। मण्डलायुक्त श्री पन्त ने जनपद आज़मगढ़ में सीएचसी कुशलगाॅंव सहित अन्य परियोजनाओं के सम्बन्ध में कार्यदायी संस्था आवास एवं विकास परिषद द्वारा अद्यतन रिपोर्टिंग के बजाय पुनः पुरानी रिपोर्टिंग करने पर सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए अधिशासी अभियन्ता को स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने का निर्देश दिया। इसी प्रकार समीक्षा में यह भी पाया गया कि पैकफेड के स्तर पर अधिक परियोजनायें हैं परन्तु बार-बार निर्देश दिये जाने के बावजूद प्रगति अत्यन्त खराब है। इस पर उन्होंने निर्देश दिया कि पैकफेड को भविष्य में कोई कार्य न दिये जाने के बिन्दु पर विचार करने हेतु शासन को पत्र प्रेषित किया जाय।
मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने अन्य कार्यदायी संस्थाओं की समीक्षा में पाया कि लोक निर्माण विभाग के प्रान्तीय खण्ड एवं निर्माण खण्ड-2 के स्तर पर पुलिस विभाग के कई कार्य लम्बित हैं। इस सम्बन्ध में उन्होंने अधीक्षण अभियन्ता, लोनिवि को निर्देशित किया कि कार्यों को तत्काल शुरू करायें तथा नियमित रूप से समीक्षा कर समय से पूरा करायें। मण्डलायुक्त ने बाढ़ खण्ड के अधिशासी अभियन्ता को निर्देश दिया तहसील सगड़ी अन्तर्गत घाघरा नदी के दायें तट पर गांगेपुर मठिया रिंग बाॅंध के नवनिर्माण में गति लायें तथा मानक के अनुरूप कार्य समय से पूरा करायें। उन्होंने संयुक्त विकास आयुक्त को निर्देश दिया कि जल निगम के स्तर पर कुल कार्यों, पूर्ण कार्यों, निर्माणाधीन कार्यों, अनारम्भ कार्यों, पाइप लाइन आदि का विवरण अधीक्षण अभियन्ता जल निगम से प्राप्त कर उपलब्ध करायें, ताकि उसका सत्यापन कराया जा सके। मण्डलायुक्त श्री पन्त ने 50 करोड़ से अधिक लागत की परियोजनाओं की समीक्षा में पाया कि बूढ़नपुर-लालगंज 60 किमी के एनएच 233 के पैकेज-2 का कार्य काफी अव्यवस्थित है, कहीं कार्य हुआ है तो कहीं छूटा और प्रगति भी काफी खराब है। इसके अलावा बार चार्ट में परिवर्तन के कारण टाइमलाइन भी अस्पष्ट है। इस सम्बन्ध में उन्होंने सम्बन्धित अधिकारी से वास्तविक स्थिति स्पष्ट कराने का निर्देश दिया। बताया गया कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के पैकेज 7 में इण्टरचेन्ज अक्टूबर में पूरा हो जायेगा। कर करेत्तर एवं अन्य राजस्व कार्यों की समीक्षा में विविध देयों की मांग में विसंगति मिलने पर इसे तत्काल दुरुस्त करने का निर्देश दिया। मण्डलायुक्त ने कहा कि बलिया में 10 बड़े बकायेदारों में कुछ काफी पुराने हैं। उन्होंने अपर जिलाधिकारी बलिया को इस ओर विशेष ध्यान देकर शीघ्र वसूली कराये जाने का निर्देश दिया। इसी प्रकार मऊ में अमीनों द्वारा की गयी वसूली के अंकन मंे भी विसंगति को दूर करने हेतु निर्देशित किया गया।
इस अवसर पर अपर आयुक्त (प्रशासन) अनिल कुमार मिश्र, संयुक्त विकास आयुक्त पीएन वर्मा, अपर जिलाधिकारी मऊ केहरी सिंह, अपर जिलाधिकारी बलिया राम आसरे, मुख्य राजस्व अधिकारी आज़मगढ़ हरी शंकर, अधीक्षण अभियन्ता लोनिवि मऊ एके मणि, मण्डलीय अर्थ एवं संख्या अधिकारी डा. नीरज श्रीवास्तव, मुख्य अभियन्ता विद्युत सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी एवं कार्यदायी संस्थाओं के मण्डलीय एवं जनपदीय पदाधिकारी उपस्थित थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment