.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: जिला अस्पताल में उपलब्ध हुई सीटी स्कैन सेवा का गांव-गांव प्रचार करें- कमिश्नर


मण्डलायुक्त ने किया मण्डलीय चिकित्सालय का औचक निरीक्षण, अनुपस्थित 9 कर्मचारियों का रुका वेतन

आजमगढ़ 22 मई -- मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने कोरोना महामारी के दौरान नाॅन कोविड अस्पतालों की व्यवस्थाओं को चुस्त दुरुस्त रखने एवं स्वास्थ्य सेवाओं में पारदर्शिता एवं समयबद्धता को सुदृढ़ करने के दृष्टिगत शनिवार को मण्डलीय जिला चिकित्सालय आजमगढ़ का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने जहाॅं एक्स-रे रूम, सीटी स्कैन रूम, महिला वार्ड, जनरल वार्ड को देखा वहीं कर्मचारियों की उपस्थिति का भी जायजा लिया। निरीक्षण में पाया गया कुल 9 एलटी दो दिनों के अनुपस्थित चल रहे हैं। मण्डलायुक्त ने इस स्थिति पर सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए अनुपस्थित सभी कर्मचारियों का अनुपस्थित तिथियों का वेतन रोकने हेतु निर्देशित किया। ज्ञातव्य हो कि कोविड-19 की महामारी के दौरान नाॅन कोविड मरीजों को निर्बाध्य रूप से समुचित इलाज की सुविधा उपलब्ध कराये जाने के उद्देश्य से मण्डलीय जिला चिकित्सालय को नाॅन कोविड अस्पताल घोषित किया गया है।
मण्डलायुक्त विजय विशवास पन्त ने सबसे पहले एक्स-रे कक्ष का निरीक्षण किया गया, जहाॅं उपस्थित टेक्नीशियन द्वारा अवगत कराया गया कि एक्से-रे मशीन क्रियाशील है तथा प्रतिदिन 40-45 मरीजों के एक्स किये जाने हैं। कोविड-19 के दृष्टिगत चेस्ट एक्स-रे से सम्बन्धित मरीजों के बारे में बताया गया कि प्रतिदिन ऐसे 12-14 मरीजों का एक्स-रे होता है। मण्डलायुक्त श्री पन्त द्वारा सीटी स्कैन कक्ष का निरीक्षण किया गया। इस दौरान वहाॅं उपस्थित कर्मचारी द्वारा अवगत कराया गया कि प्रतिदिन औसतन 15 से 20 मरीजों का रेफरल के रुप में सीटी स्कैन किया जा रहा है, जिसमें से प्रायः 7-8 मरीज चेस्ट इन्फेक्शन से सम्बन्धित होते हैं। उन्होने मुख्य चिकित्साधिकारी तथा प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डा. अनूप कुमार सिंह को निर्देशित किया गया कि जो भी चेस्ट इन्फेक्टेड मरीज पाये जाते हैं उनके त्वरित इलाज हेतु आवश्यक प्रबन्ध सुनिश्चित किया जाय। मण्डलायुक्त श्री पन्त ने अस्पताल में क्रियाशील हुए सीटी स्कैन का व्यापक रूप से प्रचार-प्रसार कराये जाने पर जोर देते हुए कहा कि शहर से लेकर गाॅंव-गाॅंव इसका प्रचार कराया जाय ताकि अधिक से अधिक मरीज इसका लाभ ले सकें। निरीक्षण के दौरान बन्द पड़े एक कक्ष के सम्बन्ध में पूछे जाने पर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एके मिश्र द्वारा अवगत कराया गया कि यह एनएचएम के अन्तर्गत निर्मित कक्ष है तथा नामित सर्विस प्रोवाइडर द्वारा अभी तक नही खोला गया है। मण्डलायुक्त ने निर्देश दिया कि जिलाधिकारी के संज्ञान में लाकर तत्काल कक्ष को खुलवाने हेतु आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित की जाय।
महिला वार्ड एवं जनरल वार्ड का निरीक्षण किया गया वार्ड में आक्सीजन कन्सेन्ट्रेटर द्वारा मरीजों को आक्सीनज सप्लाई दिया जाना पाया गया। परन्तु वार्ड की खिड़की की जाली टूटी पाये जाने पर मण्डलायुक्त ने निर्देशित किया कि इसे तत्काल ठीक करा लिया जाय। निरीक्षण के समय उपस्थित पैथालोजिस्ट डा. अज़हर से अस्पताल में तैनात लैब टिक्नीशियन की उपस्थिति के सम्बन्ध में पूछे जाने पर ज्ञात हुआ कि दो दिनों से कई एलटी (लैब टेक्निीशियन) उपस्थित नहीं हैं। मण्डलायुक्त श्री पन्त ने इस स्थिति पर सख्त नाराजगी व्यक्त किया तथा सभी अनुपस्थित एलटी का अनुपस्थित तिथियों (21 22 मई) के वेतन आहरण को बाधित किये का निर्देश दिया। उन्होंने पैथालोजिस्ट को निर्देशित किया गया लैब में किये टेस्टिंग व प्रति एलटी द्वारा किये गये टेस्ट के सम्बन्ध प्रतिदिन का रिपोर्ट कार्ड उपलब्ध करायें। कोविड टेस्ट कराने आये व्यक्तियों द्वारा कोविड सैम्पलिंग/जाँच कर रहे एलटी को शराब के नशे में होना बताया गया। मण्डलायुक्त श्री पन्त ने शिकायत को गंभीरता से लेते हुए मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया उक्त एलटी का तत्काल मेडिकल कराकर जाँच रिपोर्ट प्रस्तुत करें तथा तथा शिकायत सही होने पर सम्बन्धित एलटी की संविदा तत्काल समाप्त करें। मण्डलायुक्त ने अस्पताल के निरीक्षण में पाई गयी कतिपय खामियों पर नराजगी व्यक्त करते हुए मुख्य चिकित्साधिकारी व प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक से कार्यों में लापरवाही व स्टाफ पर प्रभावी नियंत्रण न होने के सम्बन्ध स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने का निर्देश दिया। इसके साथ ही उन्होंने प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक को प्रतिदिन अस्पताल का दो बार भ्रमण करने हेतु भी निर्देशित किया।
मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त द्वारा दिये गये निर्देश के क्रम में निरीक्षणोपरान्त प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डा. अनूप कुमार सिंह ने अवगत कराया कि 21 व 22 मई को कुल 9 एलटी हरिनन्दन राम, ओमप्रकाश यादव, एके शुक्ल, मनोज यादव, अमित यादव, अजय पाण्डेय, जयशंकर चैहान, कन्हैया लाल तथा अविनाश श्रीवास्तव अनुपस्थित पाये गये। इन सभी का दो दिनों का वेतन अवरुद्ध कर दिया गया है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment