.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: लॉकडाउन में चोरी छुपे दुकान खोली, पुलिस से की बहस,मुकदमा दर्ज


दुकान खोले जाने की सूचना पर कोतवाल पहुंचे तो बीच बाजार में हुआ वाकयुद्ध

महामारी अधिनियम में हुई कार्रवाई, कायदों की अनदेखी पर सख्ती की दी हिदायत

आजमगढ़ : कोरोना कर्फ्यू की बंदी के बावजूद चौक इलाके में एक कारोबारी ने साड़ी की दुकान चुपके से खोल दी थी। कोतवाल पहुंचे तो मौके पर जमकर तमाशा हुआ। दरअसल,बन्द शटर की दुकान में कई लोग मिल गए। कारोबारी कायदों की अनदेखी करने के बावजूद आंखें दिखा रहा था। बहरहाल पुलिस ने सख्ती दिखाई तो कारोबारी को पूरा शटर बंद करना पड़ गया। देर शाम पुलिस ने कारोबारी राजीव गुप्ता के खिलाफ महामारी अधिनियम में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
कोरोना का चेन तोड़ने के लिए सरकार ने 17 मई तक के लिए बंदी की घोषणा कर रखी है। जरूरी एवं रोजमर्रा के सामानों की खरीदारी के लिए थोड़ी छूट जरूर दी गई है। दुकानें खुलने न पाएं, इसके लिए पुलिस शहर से लेकर गांव तक जोर आजमाइश कर रही है। सोमवार को पुलिस को सूचना मिली कि एक साड़ी की दुकान खुली हुई है। कोतवाल केके गुप्ता पहुंचे तो मौके पर तमाशा हो गया। शटर बंद था, लेकिन अंदर कई खरीददार जमे हुए थे। शटर बाहर से बंद था, लेकिन अंदर हलचल सुनाई पड़ रही थी। पुलिस ने शटर खोलने को कहा ताे दुकानदार आनाकारी करने लगा। पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए शटर में बाहर से ताला डालने की हिदायत दी तो कारोबारी कमजारे पड़ा। उसी दौरान मीडिया कर्मी पहुंचे तो मौके पर तमाशा होने लगा। इंस्पेक्टर केके गुप्ता ने बताया कि कारोबारी राजीव गुप्ता के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। कहाकि पुलिस नियम विरुद्ध कोई दुकान नहीं खोलने देगी। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जरूरी है कि दुकानें बंद रहें। बंदी का पालन किया जाए, लोग घरों में रहें।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment