.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: मेडिकल कालेज में आक्सीजन प्लांट लगाने का काम शुरू


प्रदेश सरकार ने 21 दिन में प्लांट से आक्सीजन उत्पादन की टाइमलाइन निर्धारित की 

कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश प्रोजेक्ट कारपोरेशन लिमिटेड ने काम भी शुरू कर दिया

आजमगढ़ : सरकार की सख्ती और तेजी का असर राजकीय मेडिकल कालेज में प्रस्तावित आक्सीजन प्लांट को जमीन पर उतरने की रफ्तार में दिख रहा है। 21 दिन में प्लांट से आक्सीजन उत्पादन की टाइमलाइन निर्धारित की गई तो कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश प्रोजेक्ट कारपोरेशन लिमिटेड ने काम भी शुरू कर दिया। राजकीय मेडिकल कालेज के जिम्मेदार भी मिनट-टू-मिनट की मॉनीटरिग कर रहे हैं। लाजिमी भी कि आक्सीजन की दुश्वारियों से मरीजों की जान जहां अटक जा रही तो वहीं जिम्मेदारों को भी उन्हें बचाने की चुनौतियों से जूझना पड़ रहा है। मेडिकल कालेज में आक्सीजन का प्लांट अस्तित्व में आते ही लोगों को उसका लाभ मिलने लगेगा।राजकीय मेडिकल कालेज एवं सुपर फैसिलिटी हॉस्पिटल में कार्यदायी संस्था ने काम शुरू किया तो लोग खुश भी नजर आए। हालांकि, नई व्यवस्था का लाभ 21 दिन बाद ही किसी को मिलना है, लेकिन उसके बावजूद लोग यह सोच रहे हैं कि संस्थान आक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर होगा तो किसी को तो उसका लाभ मिलेगा। जिसके स्वजन की जान बचेगी वह तो खुश होगा ही। दरअसल, इन दिनों कोरोना काल में आक्सीजन की राजकीय मेडिकल कालेज में जबरदस्त मांग है। आक्सीजन प्लांट 800 वर्ग स्क्वायर फीट भूमि पर बनाया जा रहा है। इसका लाभ आजमगढ़-गोरखपुर के बीच के कई जिलों के लोगों को मिलेगा। चूंकि मेडिकल कालेज की अपनी जरूरतें आठ से नौ सौ सिलिडर की है, इसलिए यहां प्लांट लगाना ही एक विकल्प था। प्राचार्य आरपी शर्मा ने कहाकि 98 लाख रुपये जारी हुए हैं। सरकार ने कुल बजट भी मंजूर दिया है, ऐसे में अब कोई अवरोध दिख नहीं रहा है। हम मरीजों को बेहतर सेवाएं देने को कटिबद्ध हैं।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment