.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: राष्ट्रीय ओलमा कौंसिल ने वसीम रिज़वी के खिलाफ एसपी को दी तहरीर


जानबूझकर धार्मिक भावनाओं को ठेंस पहुंचाने व सामाजिक उन्माद फैलाने के आरोप में गिरफ्तारी की मांग की गई

आज़मगढ़: राष्ट्रीय ओलमा कौंसिल के एक प्रतिनिधिमंडल ने प्रदेश अध्यक्ष अनिल सिंह के नेतृत्व में आज आज़मगढ़ एसपी से मुलाकात कर उन्हें एक तहरीर दी जिसमे शिया वक़्फ़ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिज़वी के द्वारा पवित्र कुरान का अपमान करने की बात कही गयी है और वसीम रिज़वी के विरुद्ध जानबूझकर धार्मिक भावनाओं को ठेंस पहुंचाने व सामाजिक उन्माद फैलाने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर तत्काल गिरफ्तारी करने की मांग की गयी है। 
इस मौके पर मीडिया से बात करते हुए ओलमा कौंसिल के प्रदेश अध्यक्ष अनिल सिंह ने कहा कि वसीम रिज़वी जो कि सपा सरकार में शिया वक़्फ़ बोर्ड के चेयरमैन थे ने अपने कार्यकाल में तमाम घोटाले व भ्रष्टाचार किये हैं जिसे लेकर उनके खिलाफ तमाम मुक़दमे दर्ज हुए और अब तो सीबीआई इन्क्वायरी भी शुरू हो गयी है ऐसे में अपने को बचाने के लिए और सस्ती लोकप्रियता के चक्कर मे वसीम रिज़वी आये दिन इस्लाम और मुसलमानो के खिलाफ अनाप शनाप बोलते रहते हैं। इस बार फ़िर इस स्तरहीन व्यक्ति ने कुरान के सम्बंध में आपत्तिजनक टिप्पणी की है जो कि नाकाबिल बर्दाश्त है। इस्लाम के प्रति घृणा और धार्मिक वैमनस्य फैलाने की नियत से वसीम रिज़वी ने कुरान की आयतों को हिंसा से जोड़कर आपत्तिजनक तहरीर व बयान दिया है जो कि देश भर में विभिन्न समाचार पत्रों, न्यूज़ चैनलों, सोशल मीडिया एवं अन्य संचार माध्यमों से प्रकाशित एवं प्रसारित हुआ है जिससे इस्लाम को मानने वाले करोड़ो मुसलमानों की धार्मिक भावनाओं को ठेंस पहुंची है और आज़मगढ समेत देश भर के करोड़ो मुसलमान आहत तो हुए ही हैं साथ ही देश के हर शांतिप्रिय व सदभावना में विश्वास रखने वाले नागरिक को भी कष्ट हुआ है। 
ज़िला अध्यक्ष हाजी शकील अहमद ने कहाकि ये साफ तौर पर वसीम रिज़वी द्वारा धार्मिक भावनाओं को ठेंस पहुंचाने का जानबूझकर और विद्वेषपूर्ण आशय से किया गया कृत्य है और समाजिक उन्माद फैला कर शांति भंग करने का विमर्शित प्रयास है क्योंकि कुरान इस्लाम धर्म की सबसे पवित्र और महत्वपूण ग्रंथ है जिसे भारत समेत पूरे विश्व में सभी धर्मोे के अरबों लोगों द्वारा पढ़ा, समझा और याद किया जाता है और जो विश्व भर में अक्षरशः समान एवं अपरिवर्तनीय है। नुरुल हुदा ने कहाकि वसीम रिज़वी जैसे लोगों की सही जगह जेल या तो पागल खाना है, इन्हें बाहर छोड़ना समाज के लिए खतरा है। इस मौके पर पार्टी के वरिष्ठ नेता अब्दुल्लाह शेख, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य अबु तालिब, शाहबाज़ शाह, अबसार शेख, नगर अध्यक्ष नफीस अहमद, फहद आज़मी आदि मौजूद रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment