.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: आंखें सलामत रहें तो मतिष्क भी संतुलित कार्य करता है - मनीष गुप्त ,राज्य मंत्री



नेत्र मंदिर में 725 लोगों के इलाज संग खत्म हुआ निशुल्क शिविर

चिकित्सकों की टीम ने अंतिम दिन भी जम कर की लोगो की सेवा

आजमगढ़ : नेत्रमंदिर में लगा निश्शुल्क नेत्र चिकित्सा शिविर रविवार को समाप्त हो गया। तीसरे सत्र का उद्धाटन उत्तर प्रदेश व्यापारी कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष (दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री) मनीष गुप्ता ने किया। उम्मीदे लिए गरीब, जरूरतमंद लोगों से मुलाकात कर उनसे शिविर की उपयोगिता के बारे में जाने तो खुश हो उठे। दअसल, शिविर में पहुंचे कई लोगों ने बताया कि उनके परिवार में कई लोग बीते सालों में इलाज कराकर नेत्र ज्योति प्राप्त कर चुके हैं। शिविर का अंतिम दिन होने के कारण लोगाें की भीड़ उमड़ी थी।
मुख्य अतिथि ने कहा कि 1960 में रामेश्व सर्राफ ने अस्पताल बनवाने को जमीन दान में दिया था। उनकी इरादा सेवा क्षेत्र को बढ़ावा देना था। उनकी सोच को आशीष गोयल (पौत्र) ऐसे आयोजनों के जरिये जीवित किए हैं। उन्होंने फीता काटकर उद्घाटन किया तो डॉक्टरों के पास इलाज कराने वालों की लाइन लग गई। दरअसल, 300 लोग सुबह से ही पहुंचकर इलाज के लिए रजिस्ट्रेशन कराकर बैठे थे। सीतापुर अस्पताल की टीम गरीबों का इलाज करने में पूरी तन्मयता से जुटे रहे। गरीब एवं जरूरतमंद लोगों को निश्शुल्क चश्मा, दवाओं संग कंबल भी वितरित किए गए। शिविर के समापन को संबोधित करते हुए आयोजक आशीष गोयल ने कहा कि पहले दिन 170 दूसरे दिन 255 और आज 300 लोगों ने आखों का इलाज व आपरेशन कराया। कहाकि महंगाई में गरीब इलाज का खर्च नहीं उठा पाते हैं। इसलिए मैंने वर्ष 2016 में संकल्प लेते हुए कैंप लगवाया था। अभी इसके पांच साल हुए है, लेकिन अनवरत सालों तक चलता रहेगा। भाजपा जिलाध्यक्ष ध्रवु सिंह, हरवंश मिश्रा, शंकर प्रसाद गुप्त, नवनीत गुप्ता, डा. श्यामनारायण सिंह उपस्थित रहे। संचालन पूर्व चेयरमैन शंकर मधेशिया ने किया।
[03/01, 20:14] Azamgarh Live: आजमगढ़: आंख है तो मस्तिष्क भी काम करते हैं-मनीष गुप्त
नेत्र मंदिर सीतापुर अस्पताल में 300 मरीजों का हुआ निःशुल्क चिकित्सकीय परीक्षण, जरूरतमंदों में कम्बल भी बांटा
आजमगढ़। नेत्र मंदिर सीतापुर अस्पताल में चल रहे तीन दिवसीय निःशुल्क नेत्र परीक्षण शिविर के आखिरी दिन रविवार को उत्तर प्रदेश व्यापारी कल्याण बोर्ड उपाध्यक्ष ,दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री मनीष गुप्त मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद रहे। उन्होंने दीप प्रज्ज्वलन कर तीसरे दिन के शिविर का शुभारम्भ किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि नेत्र मंदिर परिवार की ओर निःशुल्क नेत्र शिविर कैम्प का आयोजन कर एक अच्छी पहल की गई है। इससे अन्य लोगों को भी सीख लेनी चाहिए। 
तीसरे दिन के शिविर में 300 मरीजों के आंखों की जांच की गई। जांच के पश्चात राज्य मंत्री ने मरीजों को निःशुल्क चश्मा व दवा भी वितरित किया। ठंड से बचाव के लिए लगभग 125 जरूरतमंदों को कंबल भी प्रदान किया। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मनीष गुप्ता ने कहा कि नेत्र मंदिर सीतापुर अस्पताल संस्था अपने आप में एक बड़ी संस्था है। इस संस्था का काम जरूरतमंदों के इलाज व दवा का कार्य सराहनीय है। आंख है तो मस्तिष्क भी काम करते हैं। संस्था के सचिव आशीष गोयल के दादा स्व0 रामेश्वर प्रसाद सर्राफ ने वर्ष 1960 में इतनी बड़ी भूमि न केवल दान किया बल्कि एक बड़ा अस्पताल बनवाया। यह अस्पताल आजमगढ़ के नाम को ऊंचाई पर ले गया। पूर्वांचल के 10-12 जिलों के लोग यहां पर पहले इलाज के लिए आते थे और उनका निःशुल्क इलाज भी होता था। किन्ही कारणों से बीच में अस्पताल बंद हो गया था। आशीष गोयल ने पुनः अस्पताल का जीर्णोद्धार कराकर इसका पुनः शुभारम्भ किया। इस अस्पताल में प्रतिदिन करीब 125 मरीज इलाज के लिए आ रहे हैं और लाभान्वित भी हो रहे हैं। पुर्नशुभारम्भ के पांचवे वर्ष में निःशुल्क शिविर आयोजित की गयी है। तीन दिन के शिविर में सीतापुर की चिकित्सकों की स्पेशल टीम ने 625 मरीजों का निःशुल्क आंखों की जांच के साथ ही उन्हें चश्मा और दवा भी वितरित किया गया। इस मौके पर संस्था के सचिव आशीष गोयल ने मुख्य अतिथि के साथ ही उपस्थित लोगों का आभार जताते हुए उन्हें धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष ध्रुव सिंह, व्यापार मण्डल के नगर अध्यक्ष संत प्रसाद अग्रवाल, सुधीर अग्रवाल, प्रवीण सिंह, सौरभ गुप्त, नवनीत गुप्त, रवि श्रीवास्तव, सौरभ श्रीवास्तव, आयुष, पवन आदि लोग उपस्थित रहें।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment