.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: कर्ज की रकम ना लौटने को दोस्तों ने की थी राकेश की हत्या


दीदारगंज क्षेत्र में दो दिन पूर्व प्रधान के चचेरे देवर की हत्या का पुलिस ने किया खुलासा

दो अभियुक्त गिरफ्तार, हत्या में प्रयुक्त कार,बाइक व चाकू बरामद 

आजमगढ़ दीदारगंज क्षेत्र में दो दिन पूर्व प्रधान के चचेरे देवर की हत्या और कोई नहीं बल्कि उसके दोस्तों ने ही रुपये के लेन-देन के विवाद में की थी। पुलिस ने शनिवार को इस हत्याकांड का खुलासा कर दिया। कर्ज लिए धन को न लौटाने के लिए दोस्तों ने ही युवक को मौत के घाट उतारा था। पुलिस अधीक्षक सुधीर सिंह ने बताया कि मृत राकेश सूद पर पैसे को देने का काम करता था। उसके साथियों ने ही उससे लाखों रुपए सूद पर लिए थे जिसे वह लौटाना नहीं चाह रहे थे। मृतक रुपये वापस लेने के लिए दबाव बना रहा था। इसी को लेकर 5 लोगों ने कार से दावत खिलाने ले जाने की साजिश रच कर कार में ही हत्या कर उसको सड़क किनारे फेंक कर भाग गए थे। पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। हत्या में प्रयुक्त चाकू के साथ ही मृतक का टोपी व बाइक बरामद की गई है। इसके अलावा कार को भी कब्जे में ले लिया गया है। दीदारगंज थाना क्षेत्र के सुरहन गांव का रहने वाला राकेश सिंह ब्याज पर पैसे बांटने का काम करता था जिसकी धारदार हथियारों से हत्या कर दी गई थी। राकेश का शव मार्टिनगंज दीदारगंज रोड पर कटिया पूरा गांव के पास सड़क के किनारे मिला था और उसके शरीर पर कई जगह जख्मों के निशान थे। राकेश के भाई की तहरीर पर उसके दोस्त सलीम के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। पुलिस खोजबीन में जुटी थी। इसी दौरान पता चला कि पैसों के विवाद में साथ रहने वाले सलीम व 4 अन्य व्यक्तियों ने मिल कर की हत्या कर दी। पुलिस ने 2 आरोपियों सलीम व धर्मेंद्र सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि अनन्त राय, सत्यम राय व राधेश्याम यादव की तलाश की जा रही है। सलीम व अनन्त राय ने 6 लाख व धर्मेंद्र सिंह ने अपनी बहन की शादी के लिए 3 लाख लिए थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment