.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: सपा मुखिया अखिलेश से मिलने को उमड़ी भीड़,टूटा सर्किट हाउस का दरवाजा



घंटो इन्तेजार के बाद भी नही मिल पाए सपा कार्यकर्ता , हुए निराश

आज़मगढ़: सपा मुखिया व स्थानीय सांसद अखिलेश यादव से मिलने के जुनून में सपाइयों ने सर्किट हाउस का दरवाजा ही तोड़ डाला, फिर भी उन्हें निराशा ही मिली । अखिलेश यादव ने न मीडिया से न ही कार्यकर्ताओं से बात की बल्कि वहां से सीधे निकल कर पुर्व सांसद बलिहारी बाबू एवम उसके बाद पूर्व मंत्री चंद्रदेव यादव के आवास पर पंहुचे। यहां से वह पूर्व मंत्री दुर्गा प्रसाद यादव के यहां बहुभोज में शामिल होने जाएंगे।समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व आजमगढ़ से सांसद अखिलेश यादव रविवार को अपने संसदीय क्षेत्र एक दिन पूर्व शाम को पहुंचे थे। उन्होंने सबसे पहले दिवंगत पूर्व मंत्री वसीम अहमद के घर जा कर शोक संवेदना प्रकट की। सोमवार को भी उनके जनपद में कई जगह मांगलिक व निजी कार्यक्रमों में शामिल होने का शेड्यूल था। रात्रि विश्राम उन्होंने सर्किट हाउस में किया था। समाजवादी गढ़ के रूप में चर्चित जनपद में जब सपाइयों को अपने नेता के यहां रहने की जानकारी मिली तो सुबह से ही सर्किट हाउस पर उनसे मिलने को कार्यकर्ताओं की भीड़ इकट्ठा होने लगी। भीड़ की स्थिति देख व्यवस्थापको ने वहां लाइन लगवा दी और एक-एक कर अंदर जाने की अनुमति दी जाने लगी। उधर अखिलेश यादव को कई कार्यक्रमों में शामिल होना था जिसको लेकर आपाधापी मच गई और मिलने के होड़ में कार्यकर्ता एक साथ धक्का देकर सर्किट हाउस में घुसने की कोशिश किए जिससे सर्किट हाउस का दरवाजा टूट गया। इसके बाद अफरा-तफरी का माहौल हो गया पुलिस ने खदेड़ा तो वहां भागदौड़ के चलते हंगामा मचा रहा है। मीडिया कर्मी भी कई घंटों से अखिलेश यादव से मिलने के लिए इंतजार करते रहे लेकिन कार्यकर्ताओं व मीडिया कर्मियों को तब निराश होना पड़ा जब अखिलेश यादव सर्किट हाउस से अपने कक्ष से सीधे निकले और 2 मिनट हाथ हिला कर तुरंत अपने वाहन में बैठकर रवाना हो गए। घंटों से देखने सुनने को खड़े कार्यकर्ताओं में इसको लेकर काफी रोष दिखाई दिया। यहां तक की अखिलेश यादव का जनपद से ही किसान आंदोलन की शुरुआत करने का भी कार्यक्रम पूरी चर्चा में था। जिसको लेकर कार्यकर्ता यह उम्मीद कर रहे थे कि नेता के एक निर्देश पर वह कहीं भी धरने पर बैठ जाएंगे लेकिन यह हो न सका। कार्यकर्ता लाठी खाने के लिए भी पूरा तैयार थे अतः सभी को निराश लौटना पड़ा।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment