.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: केंद्र सरकार को किसान विरोधी बता किसान सभा ने ज्ञापन सौंपा


केंद्र की वर्तमान कार्यशैली से आमजन में जनाक्रोश व्याप्त है- इम्तेयाज बेग, प्रदेश अध्यक्ष

आजमगढ़। केंद्र सरकार पर किसान विरोधी आरोप लगाते हुए उत्तर प्रदेश किसान सभा द्वारा राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा गया। इस दौरान सभा के पदाधिकारियों ने प्रदेश अध्यक्ष इम्तेयाज बेग के नेतृत्व में सरकार विरोधी नारे लगाकर प्रदर्शन किया।उत्तर प्रदेश किसान सभा के प्रदेश अध्यक्ष इम्तेयाज बेग ने कहा कि केंद्र की वर्तमान कार्यशैली से आमजन में जनाक्रोश व्याप्त है, किसानों, और निचले तबके के दिन संवारने का दावा करने वाली केंद्र सरकार की मनमानी नीतियों से गरीब, किसान, बेरोजगार, व्यापारी, मध्यम वर्ग कराह रहा है। अभी हाल ही में जो सरकार ने बगैर बहस किये ही लोकसभा में तीन नये किसान विरोधी कानून को हठधर्मिता के साथ पारित कर किसानों वर्ग पर मनमानी थोपकर कापोर्रेट जगत को लाभ पहुंचाने का काम की है, जिसे कभी बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। जिसको लेकर पूरे देश में आवाज उठ रही है लेकिन सरकार हमारी आवाज को कुचलने का काम रही है।
रामचन्दर यादव ने सात सूत्री मांगों में बताया कि आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 कानून को संशोधित कर बनाये गये नए कानून को वापस लेने, कृषि उपज वार्णिज्य एवं व्यापार कानून को संशोधित कर बनाये गये नए कानून को वापस लेने, मूल्य आश्वासन पर किसान कानून (बंदोबस्ती और सुरक्षा) को संशोधित कर बनाये गये नए कानून को वापस लेने, गन्ना का मूल्य 450 रूपया कुंतल किय जाने व गन्ना किसानों के बकाये का भुगतान करने, किसान विरोधी बिजली कानून वापस लेने, बढ़ती महंगाई और भ्रष्टाचार पर अविलम्ब रोक लगाने, दलहन, तिलहन व सब्जियों का भी लाभकारी मूल्य घोषित करने व घोषित मूल्य पर ही खरीद सुनिश्चित करते हुए दस प्रतिशत से ज्यादा उपभोक्ता से मूल्य न लेना शामिल रहा।
इस अवसर पर खरपत्तू राजभर, गुलाब मौर्य, सुरेश गुप्त, गुलाब मौर्य, जीयालाल, हीरालाल, अशोक राय एडवोकेट, शहनवाज बेग, रामखलन राजभर सहित आदि मौजूद रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment