.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: सड़क खुदवा कर जांची गई एक्सप्रेसवे निर्माण की गुणवत्ता



अपर मुख्य सचिव गृह, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त एवं अपर मुख्य सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास ने पूर्वांच्चल एक्सप्रेस-वे का स्थलीय निरीक्षण किया


आजमगढ़ 07 नवंबर-- उ0प्र0 एक्सप्रेसवेज औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीडा) के मुख्य कार्यपालक अधिकारी व अपर मुख्य सचिव गृह एवं गोपन उ0प्र0 अवनीश अवस्थी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टंडन एवं अपर मुख्य सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास उ0प्र0 आलोक कुमार द्वारा पूर्वांच्चल एक्सप्रेस-वे पैकेज 06 व 05 का स्थलीय निरीक्षण एवं किसुनदासपुर स्थित कैम्प कार्यालय में अधिकारियों के साथ बैठक की गयी। इस अवसर पर पैकेज 06 व 05 के निर्माण कार्यो के गुणवत्ता की जांच के लिए सड़क को खोद कर उसके गुणवत्ता को देखा गया। 
पूर्वांच्चल एक्सप्रेस वे के पैकेज 05 की समीक्षा के दौरान पैकेज 05 के प्रोजेक्ट मैनेजर द्वारा अवगत कराया गया कि वर्तमान समय में 64 प्रतिशत कार्य पूर्ण है, नवम्बर 2020 तक 70 प्रतिशत कार्य की भौतिक प्रगति पूर्ण कर ली जायेगी एवं दिसम्बर तक 77 प्रतिशत कार्य की भौतिक प्रगति पूर्ण कर ली जायेगी। पूर्वांच्चल एक्सप्रेस वे के पैकेज 05 व 06 के गुणवत्ता की जाॅच की जिम्मेदारी राइट्स का दी गयी है। 
समीक्षा में पाया गया कि राइट्स कम्पनी के पास 38 केस पेंडिंग हैं, जो रेन कट व फीनिशिंग स्ट्रक्चर से संबंधित है। इसी के साथ ही अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टंडन ने पैकेज 05 के प्रोजेक्ट मैनेजर को निर्देश दिये कि तीनों शिफ्टों में कार्य कराकर जनवरी 2021 तक कैरेज का कार्य पूर्ण कराना सुनिश्चित करें। इसी प्रकार पैकेज 06 की समीक्षा में पैकेज 06 के प्रोजेक्ट मैनेजर द्वारा बताया गया कि वर्तमान में 59 प्रतिशत कार्य पूर्ण है, नवम्बर 2020 के अन्त तक 66 प्रतिशत भौतिक प्रगति पूर्ण कर ली जायेगी एवं जनवरी 2021 में 75 प्रतिशत भौतिक प्रगति पूर्ण कर ली जायेगी। 
समीक्षा में पाया गया कि 11 किमी0 तक मिट्टी डालना बाकी है, जिस पर मुख्य कार्यपालक अधिकारी यूपीडा अवनीश अवस्थी ने पैकेज 06 के प्रोजेक्ट मैनेजर को निर्देश दिये कि जो कन्ट्रैक्टर मिट्टी के कार्याें में लगे हुए हैं, उनके द्वारा मैन पावर व मशीनें बढ़ाकर मिट्टी डालने का कार्य पूर्ण करायें एवं ठेकेदारों से मिट्टी का कार्य जल्द पूर्ण कराने के लिए उनको बोनस भी दिया जाय। इसी के साथ ही उन्होने जिलाधिकारी को निर्देश दिये कि पैकेज 06 के जिन तीन जगहों पर मिट्टी डालने में समस्या आ रही है, उसकी स्वयं मानीटरिंग करते हुए मिट्टी डालने में आ रही समस्या का निस्तारण करें। उन्होने यह भी निर्देश दिये कि प्रत्येक दो-दो दिन पर पैकेज 05 व 06 की मानीटरिंग करते रहें। 
उन्होने पैकेज 05 व 06 के प्रोजैक्ट मैनेजर को निर्देश दिये कि जनवरी 2021 के तक कैरेज के कार्य को पूर्ण कराना सुनिश्चित करंे, जिससे कि जनवरी 2021 के अन्त तक कैरेज को आवागमन हेतु चालू किया जा सके।
पूर्वांच्चल एक्सप्रेस वे लखनऊ के चाॅद सराय से गाजीपुर के हैदरिया तक बनने वाले 340 कि0मी0 लम्बे 6 लेन के पूर्वाच्चल एक्सप्रेस वे का लगभग 84 कि0मी0 का हिस्सा जनपद आजमगढ़ से होकर गुजर रहा है। यह एक्सप्रेस वे तहसील फूलपुर, निजामाबादा, सगड़ी व सदर के 110 ग्रामों से होकर जा रहा है एवं सुल्तानपुर जनपद से होकर फूलपुर तहसील के खंडौर से जनपद आजमगढ़ मंे प्रवेश करता है, वह सदर तहसील के केरमा से मऊ जनपद में प्रवेश कर जाता है।
इस अवसर पर आयुक्त आजमगढ़ मण्डल आजमगढ़ विजय विश्वास पन्त, डीआईजी सुभाष चन्द्र दुबे, जिलाधिकारी राजेश कुमार, पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह, मुख्य राजस्व अधिकारी हरी शंकर, अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 गुरू प्रसाद, यूपीडा के सम्बन्धित अधिकारी एवं कार्यदायी संस्था पीएनसी इन्फ्राटेक लिमिटेड के अधिकारी उपथित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment