.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: सात सूत्रीय मांगों को लेकर विभिन्न बैंको में ताला बंदी रही


जनपद के ग्रामीण बैंक कर्मियों ने हड़ताल कर विरोध प्रदर्शन किया

आजमगढ़। केंद्र सरकार की श्रम विरोधी नीतियों के खिलाफ सात सूत्रीय मांगों को लेकर विभिन्न केंद्रीय संगठनों के आह्वान पर बैंको में ताला बंदी रही। इसी क्रम में यूनाइटेड फोरम आफ आर आर बी यूनियंस के बैनर तले जनपद के ग्रामीण बैंकों ने एक दिवसीय हड़ताल करते हुए गुरूवार को कर्मचारियों ने शहर के चौक स्थित क्षेत्रीय कार्यालय के बाहर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी कियां । यूपी ग्रामीण बैंक अधिकारी एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष चन्द्र तिवारी कुन्दन ने बताया कि भारत सरकार द्वारा कारपोर्रेट धरानों के पक्ष में श्रम कानूनों में संशोधन कर ट्रेड यूनियन के अधिकार खत्म किये जा रहे है। केंद्र सरकार द्वारा सार्वजनिक उपक्रमों का निजीकरण, बैंकों का निजीकरण किया जा रहा है, जिनका प्रभाव ग्रामीण बैंकों पर भी है। उन्होंने एनपीएस को खत्म कर सभी को पुरानी पेंशन लागू करने की मांग की है, ऐसे तमाम कमियों को लेकर यूनाइटेड फोरम आफ आरआर बी यूनियंस ने राष्ट्रीय हड़ताल का पूरजोर समर्थन करते हुए सरकार के नीतियों के खिलाफ मुखर प्रदर्शन किया है।
इसके अलावा काशी गोमती संयुक्त ग्रामीण बैंक आफिसर्स एसोसिएशन के महासचिव शशिकांत श्रीवास्तव ने चेतावनी दिया कि अगर क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों में 11वां वेतन समझौता शीध्र ही लागू नहीं हुआ तो अपने हितों को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल किया जायेगा। जिसकी पूरी जिम्मेदारी शासन की होगी।
धरने में महासचिव शशिकांत श्रीवास्तव, इम्प्लॉइज फेडरेशन के प्रदेश अध्यक्ष एल के सिंह, इम्प्लॉइज एसोसिएशन के महामंत्री प्रवीण कुमार, सचिव गौरव दुबे, सुभाष चंद श्रीवास्तव, सुभाष यादव, अभिषेक सागर, गौतम कुमार एवं यशवीर सिंह प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment