.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: मेरी आस्था बसपा में थी, है और हमेशा रहेगी-बंदना सिंह, विधायक


कहा, किसी ने साजिशन ये अफवाह फैला दी कि मैं सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से मिलने गई थी,यह सब निराधार है

आज़मगढ़ : जिले की सगड़ी विधानसभा क्षेत्र से बहुजन समाज पार्टी की विधायक बन्दना सिंह ने कहा है कि मेरी आस्था बसपा में थी, है और हमेशा रहेगी। उन्होंने कहा कि किसी ने साजिशन ये अफवाह फैला दी कि मैं समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से मिलने गई थी। मैं अखिलेश यादव से मिलने नहीं गई थी। मैं बुधवार को पूरे दिन अपने लखनऊ आवास पर थी। बसपा सुप्रीमो मायावती की कार्रवाई की जद में आजमगढ़ के सगड़ी विधानसभा से विधायक बन्दना सिंह के आने से उनके समर्थकों में हड़कंप की स्थिति है। उनके समर्थक ऐसी अफवाह फैलाने से उत्पन्न हुई इस स्थिति के लिए कुछ मीडिया हॉउस को ही जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। 
मीडिया से वार्ता में उन्होंने कहा कि मैं पार्टी की समर्पित कार्यकर्ता हूं और पार्टी के निर्देशों का पालन करती हूं। राज्यसभा चुनाव में पार्टी के जो निर्देश मिले उसका अक्षरश: पालन किया है। पार्टी के प्रत्याशी के नामांकन में शामिल होने का निर्देश था मैंने वैसा ही किया। लेकिन बुधवार को जो भी मेरे ऊपर आरोप लगाया गया वह पूरी तरह से निराधार है, गलत है। उन्होंने कहा कि मैने इस बारे में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से बात की है उनकी ओर से यह आश्वासन मिला है कि मेरी स्थिति से अध्यक्ष मायावती को जरूर स्पष्ट कर गलत फहमी दूर कराई जाएगी। बता दें कि सगड़ी के रामप्यारे सिंह मुलायम सिंह यादव के मुख्यमंत्रित्व काल में कैबिनेट मंत्री थे। वहीं उनके पुत्र सर्वेश सिंह सीपू सगड़ी से ही विधायक चुने गए। 2012 में सर्वेश बसपा के टिकट पर चुनाव लड़े लेकिन हार गए। 2013 में सर्वेश सिंह की हत्या कर दी गई। उसके बाद 2017 में सर्वेश सिंह सीपू की पत्नी बन्दना सिंह को मायावती ने टिकट दिया। इसी चुनाव में बन्दना सिंह बसपा से जीतकर विधानसभा पहुंचीं। 

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment