.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ : सुरेंद्र प्रताप सिंह राज्य शिक्षक पुरस्कार के लिए चयनित,मिली बधाई

अध्यापकों द्वारा उन्हें विद्यालय पर फूल माला पहनाकर  स्वागत किया गया

आजमगढ़ :  सुरेंद्र प्रताप सिंह  जिला अध्यक्ष प्राथमिक शिक्षक संघ आजमगढ़ का राज्य अध्यापक पुरस्कार के लिए चयन होने पर उन्हें बधाई देने वालों का तांता लगा रहा । बता दे कि प्राथमिक विद्यालय भैरोपुर के प्रधानाचार्य सुरेंद्र प्रताप सिंह को राज्यपाल पुरस्कार के लिए चयनित किया गया है सूचना मिलते ही अध्यापकों द्वारा उन्हें विद्यालय पर ही फूल माला पहनाकर  स्वागत किया गया। सुरेंद्र प्रताप सिंह की प्रथम नियुक्ति 13 दिसम्बर 1993 को प्राथमिक विद्यालय गंगा पुर काजी ब्लाक मुहम्मदपुर आजमगढ़ में हुई थी। 6 अगस्त 1996 को प्राथमिक विद्यालय धनघटा  कोयलसा आजमगढ़ में वे स्थानांतरित हुए। तदक्रम में विद्यालय में बच्चों के पठन पाठन के साथ साथ खेल कूद आदि में विद्यालय को अग्रणी करने हेतू  इनके द्वारा प्रयास किया गया। इनके बच्चे जिला, मंडल, और राज्य स्तर पर प्रतिभाग किये। आज इनके पढ़ाये हुए बच्चे  राज्य और केंद्र में अच्छे पद पर कार्यरत है। इसके बाद 1 जुलाई 2006 को प्रधानाध्यापक पद पर  प्राथमिक विद्यालय भैरोपुर  कोयलसा आजमगढ़ पर नियुक्त हुए। उस समय यहाँ बच्चों की संख्या 145 थी। आज बच्चों की संख्या बढ़कर 365 हो गई हैं। विद्यालय को 5 सितंबर 2016 को इनके कार्यों को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा पुरस्कृत भी किया गया  था जिसमें 01 लाख 25 हजार का चेक व प्रसस्ति पत्र दिया गया। लगातार विद्यालय में छात्र संख्या गुणवत्तापूर्ण शिक्षा,शिक्षको द्वारा पठन पाठन को देखकर स्थानीय लोगो मे खुशी की लहर व्याप्त है। वही  आज भी यह विद्यालय अगल-बगल के कॉन्वेंट स्कूलों को  2015 से  लगातार मात दे रहा है । सुरेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि  इसी विद्यालय पर  प्राथमिक शिक्षा प्राप्त किया  उस समय राम लखन सिंह राज्य पुरस्कार प्राप्त प्रधानाध्यापक द्वारा दी गई शिक्षा के  आधार पर विद्यालय को कर्मभूमि बनाया।माध्यमिक स्तर पर प्रधानाचार्य रमाशंकर सिंह की बात -" हमें क्या काम दुनिया से ,मदरसा होगा वतन अपना"  आज भी  हमको प्रेरणा देती है ।इनके पिता स्व राजधारी सिंह एक किसान थे तथा इनके चार भाई है। ये चार भाइयो में तीसरे  नंबर पर है। इनके बड़े भाई   राजेन्द्र प्रताप सिंह  पुलिस कांस्टेबल से रिटायर है। दूसरे भाई  महेंद्र प्रताप सिंह ट्रैफिक इंस्पेक्टर से सेवानिवृत्त है। इनके सबसे छोटे भाई  खेती का काम करते हैं। इनकी पत्नी रीता सिंह उच्च प्राथमिक विद्यालय बड़ागांव में प्रधानाध्यापिका पद पर तैनात हैं। इनके एक बेटा  सूर्यप्रकाश सिंह आसाम राइफल में है।इनकी बेटी लक्ष्मी सिंह  अभी बीटीसी की पढ़ाई कर रही है। इस मौके पर बधाई देने वालो में  सहायक अध्यापक, अजय सिंह ,जितेन्द्र कुमार, शरद सिंह, घुरहू मौर्य, प्रदीप सिंह, संतकुमार यादव, राम बिहारी यादव,सुभाष चंद, राधेश्याम वर्मा, विजय कुमार सिंह, नगेन्द्र दुबे, तनु सिंह, सरिता सिंह, चंद्रशेखर विश्वकर्मा,जितेंद्र कुमार स्वर्णकार आदि लोग मौजूद रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment