.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: कोविड-19 गाईडलाइन का अनुपालन करते हुए सम्पन्न हुआ समाधान दिवस



सतर्कता इतनी की सभी फरियादियों की थर्मल स्कैनिंग व उनके आवेदन पत्रों को भी सेनिटाइज किया जा रहा


सदर तहसील के 134 मामले आये, जिसमे से 11 मामलों का मौके पर निस्तारण हुआ, शेष के लिए समय सीमा निर्धारित हुई

आजमगढ़ 15 सितम्बर-- कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत कोविड-19 के गाईडलाइन का अनुपालन एवं सोशल डिस्टेन्सिंग का अनुपालन करते हुए जिलाधिकारी राजेश कुमार व पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह की अध्यक्षता में तहसील सदर के सभागार में सम्पूूर्ण समाधान दिवस सम्पन्न हुआ। 
इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि अनलाॅक-4 के अन्तर्गत प्रथम सम्पूर्ण समाधान दिवस सदर तहसील मे आयोजित किया गया है। सम्पूर्ण समाधान दिवस में फरियादियों की समस्याओं का निस्तारण करने में सोशल डिस्टेन्सिंग का अनुपालन किया गया है एवं एक समय में 05 फरियादियों को बैठाकर उनकी समस्याओं का समाधान किया जा रहा है। इसी के साथ ही अनावश्यक भीड़ एकत्रित होने से रोकने के लिए टोकन सिस्टम के आधार पर फरियादियों की समस्याओं का निराकरण किया जा रहा है। फरियादियों की समस्याओं का निराकरण करने के लिए संबंधित जिला स्तरीय अधिकारियों को सोशल डिस्टेन्सिंग का अनुपालन करते हुए उनके बैठने की व्यवस्था अलग से की गयी है।
आगे जिलाधिकारी ने बताया कि कोविड-19 से बचाव एवं रोकथाम की जानकारी प्रदान करने हेतु सम्पूर्ण समाधान दिवस में कोविड हेल्प डेस्क स्थापित कर सभी फरियादियों की थर्मल स्कैनिंग व उनके आवेदन पत्रों को भी सेनिटाइज किया जा रहा है। सम्पूर्ण समाधान दिवस आयोजित होने पर आम जनता को समस्याओं से राहत मिलेगा।
जिलाधिकारी ने जन समस्याओं के त्वरित एवं गुणवत्तायुक्त निस्तारण करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि इसमे किसी भी स्तर पर लापरवाही क्षम्य नही होगी, जन समस्याओं का गुणवत्तायुक्त एवं समयबद्ध निस्तारण शासन की प्राथमिकता है। 
इस अवसर पर कुल 134 मामले आये, जिसमे से 11 मामलों का मौके पर निस्तारण किया गया तथा शेष 123 मामलों का निस्तारण निर्धारित समय सीमा के अन्तर्गत करने के लिए जिलाधिकारी द्वारा संबंधित अधिकारियों की टीम बनाकर भेजा गया है। प्राप्त मामलों में राजस्व के 86, पुलिस के 17, विकास के 08 अन्य के 23 मामले शामिल हैं। 
जिलाधिकारी ने बताया कि फरियादियों द्वारा शिकायतों के लिए जो भी आवेदन पत्र दिये जा रहे हैं, उसमें पैमाइश, खड़न्जा नाली, चकमार्ग आदि पर अवैध कब्जा एवं राजस्व तथा पुलिस, आपूर्ति, विद्युत आदि विभागों से संबंधित सम्मिलित हैं। 
जिलाधिकारी ने समस्त संबंधित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जिन-जिन विभागों से संबंधित आवेदन पत्र हैं, उसे कल तक प्रत्येक दशा में शत प्रतिशत निस्तारित करना सुनिश्चित करें। इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने एसडीएम सदर को निर्देश दिये कि भूमि विवाद से संबंधित समस्याओं को हल करने के लिए पुलिस व राजस्व की टीम को मौके पर भेजकर समस्याओं का निस्तारण कराना सुनिश्चित करें।
जिलाधिकारी ने कहा कि यदि समस्याओं का निस्तारण प्रारम्भिक स्तर पर ही कर दिया जाए तो जनता को मुख्यालय तक नही जाना पड़ेगा। इसलिए अधिकारीगण प्राथमिकता के आधार पर प्रारम्भिक स्तर पर ही जन समस्या का वास्तविक निस्तारण कर दें। 
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आनन्द कुमार शुक्ला, सीएमओ डाॅ0 एके मिश्रा, ज्वाइण्ट मजिस्ट्रेट/उप जिलाधिकारी सदर गौरव कुमार, सीओ सदर, डीडीओ रवि शंकर राय, डीपीआरओ लालजी दूबे, अधिशासी अभियन्ता विद्युत वितरण खण्ड प्रथम, पीओ डूडा अरविन्द कुमार पाण्डेय सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment