.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

डीएम ने अल्पसंख्यक कल्याण विभाग व गन्ना अधिकारी कार्यालय का निरीक्षण किया

दोनों जगह सक्रिय मिली कोविड हेल्प डेस्क, अल्पसंख्यक कल्याण विभाग में वाहन चालक तो तैनात है पर वहां वाहन ही नही है 

आजमगढ़ 10 सितम्बर -- कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत जिलाधिकारी राजेश कुमार द्वारा अल्प संख्यक कल्याण विभाग व जिला गन्ना अधिकारी कार्यालय का औचक निरीक्षण किया गया। अल्प संख्यक कल्याण विभाग के निरीक्षण में पाया गया कि कुल 07 कर्मचारी में से 06 कर्मचारी उपस्थित रहे जिसमें 01 कर्मचारी वाहन चालक सीएल पर था। कार्यालय के बाहर कोविड हेल्प डेस्क बना है, जिसमें सेनेटाइज व पल्स आक्सीमीटर, थर्मल स्कैनर की व्यवस्था थी। जिलाधिकारी ने अल्प संख्यक कल्याण अधिकारी को निर्देश दिए कि नियमित रूप से उपस्थित पंजिका को चेक करते रहे एवं कोरोना बचाव हेतु कोविड हेल्प डेस्क को नियमित रूप से क्रियाशील रखे, कार्यालय परिसर को सुबह-शांम सेनेटाईज कराते रहे सभी कर्मचारीगण मास्क अवश्य लगाये। जिलाधिकारी द्वारा आलमारी में रखे गये पत्रावलियांे को देखा एवं उन्होने निर्देश दिए कि जो पत्रावलियों आलमारी में रखी है उसका सूची एवं स्लिप चस्पा कराये।
निरीक्षण के दौरान पाया गया कि कार्यालय में वाहन चालक कार्यरत है, किन्तु विभाग में वाहन उपलब्ध नही है, जिस जिलाधिकारी ने प्रभारी अधिकारी नजारत कलेक्ट्रेट से अपेक्षा की है कि यदि कलेक्ट्रेट में वाहन चालक की आवश्यकता हो तो अल्प संख्यक कल्याण विभाग के वाहन चालक को अग्रिम आदेश तक सम्बद्ध कर लिया जाय।
इसी के साथ ही जिला गन्ना अधिकारी कार्यालय के निरीक्षण में 11 कर्मचारी कार्यरत है जो उपस्थित पाये गये। कार्यालय के बाहर कोविड हेल्प डेस्क उपलब्ध मिला, जिस पर सेनेटाइजर, पल्स आक्सीमीटर व थर्मल स्कैनर उपलब्ध था। निरीक्षण में पाया गया कि सभी कक्षों में एक बल्ब लगे होने के कारण रोशनी की कमी पायी गयी। जिस पर जिलाधिकारी ने जिला गन्ना अधिकारी को निर्देश दिए कि सभी कक्षों में एलईडी टयूब लाइट तल्काल लगवान सुनिश्चित करें।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment