.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ : शिक्षित बेरोजगारों को नौकरी दिलाने के नाम पर रुपये ऐंठने वाले चार गिरफ्तार

निजामाबाद पुलिस ने रोडवेज के पास से गिरफ्तार किया, कई फर्जी ज्वाइनिग लेटर आदि दस्तावेज बरामद 

आजमगढ़ : शिक्षित बेरोजगारों को नौकरी दिलाने के नाम पर जालसाजी कर उनसे रुपये ऐंठने वाले गिरोह के चार शातिरों को निजामाबाद पुलिस ने सोमवार की सुबह शहर के रोडवेज के समीप से गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए जालसाजों के पास से विभिन्न विभागों में नौकरी का फर्जी तैयार किया गया ज्वाइनिग लेटर आदि दस्तावेज बरामद किया।
एसपी प्रो. त्रिवेणी सिंह ने बताया कि निजामाबाद क्षेत्र के खादा गांव निवासी प्रिस शर्मा को आर्डिनेंस फैक्ट्री कानपुर में नौकरी दिलाने के नाम पर उससे जालसाजों ने मिलकर 63 हजार रुपये ले लिए थे। पीड़ित ने इस संबंध में निजामाबाद थाना में तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। साइबर सेल के एक्सपर्ट मनीष कुमार ने जब जांच पड़ताल की तो एक संगठित गैंग प्रकाश में आया। निजामाबाद सब इंस्पेक्टर रहीमुद्दीन ने साइबर सेल की मदद से सोमवार की सुबह शहर रोडवेज के पास से संगठित गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से पुलिस ने रेलवे, एफसीआइ, आर्डिनेंस फैक्ट्री, लखनऊ मेट्रो समेत अन्य कई विभागों के फर्जी ज्वाइनिग लेटर बरामद किए। पकड़े गए जालसाजों में विवेक सिंह ग्राम बीहड़ थाना टिकैत नगर जिला बाराबंकी, राजेश गुप्त उर्फ राजू निवासी विकास खंड गोमती नगर लखनऊ, हरिलाल गौतम ग्राम बरहतीर जगदीशपुर थाना जहानागंज व मुन्नीराम ग्राम नदवां थाना तरवां के निवासी हैं। इस बाबत एसपी प्रो. त्रिवेणी सिंह ने कहा कि पकड़े गए जालसाजों का एक संगठित गिरोह है। गिरोह का तार आजमगढ़, जौनपुर, वाराणसी, बलिया, मऊ से लेकर पटना तक फैला हुआ है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment