.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ : डीएम और एसपी ने बाढ़ क्षेत्रों के सघन निरीक्षण कर दिए निर्देश


बाढ़ चौकियों के आस-पास के गाँवो में दिनचर्या रजिस्टर बना उसमें दैनिक विवरण अंकित करें- डीएम 

आजमगढ़ 10 जुलाई-- बाढ़ पूर्व तैयारियों के समीक्षा के बाद जिलाधिकारी राजेश कुमार व पुलिस अधीक्षक त्रिवेणी सिंह द्वारा बाढ़ क्षेत्र बरदहुआ नाला, गांगेपुर मठिया, गढ़वल, सहबदिया, हाजीपुर, गंगा गौरी महाविद्यालय रामनगर बैजाबारी, कुंड़ही ढाला, शिवपुर चौकी , सहदेवगंज, चिकनहवा बाजार का निरीक्षण किया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी द्वारा बाढ़ क्षेत्र में स्थापित सभी बाढ़ चौकियों का ग्राम महुला से जनपद अम्बेडकर नगर सीमा स्थित बाढ़ चौकी औघड़गंज एवं चिकिनहवा बाजार तक निरीक्षण किया गया। जिसमें अधिशासी अभियन्ता बाढ़ खण्ड द्वारा बताया गया कि यहाॅ पर 76.60 मीटर डेंजर लेवल है।
इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि बाढ़ चौकियों पर सभी सुरक्षा उपकरण रख लें। इसी के साथ ही बाढ़ चौकियों पर एक भ्रमण पंजिका रखें, जिसमें विभिन्न विभागों के जो भी कर्मचारी ग्रामें जायें, इस पंजिका में पूरा विवरण अंकित करें, साथ ही साथ सभी विभागों के लिए ग्राम मे जाने हेतु रोस्टर भी तैयार का लिया जाये। लेखपालगण दिनचर्या रजिस्टर तत्काल बनाकर उसमें दैनिक विवरण अंकित करें।
जिलाधिकारी ने एसडीएम सगड़ी को निर्देश दिये कि बाढ़ चौकियों पर कम से कम 05 स्ट्रेचर सही स्थिति में रखें। प्रत्येक राजस्व ग्राम में कम से कम 04 रेस्क्यू टीम बनाना सुनिश्चित करें। इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को निर्देश दिये कि जहाॅ-जहाॅ बाढ़ चौकी स्थापित हैं, वहाॅ के आस-पास के ग्रामों का निरीक्षण कर लें एवं ग्रामों में परिवारों को क्लोरिन की दवा को वितरित करा दें, गर्भवती महिलाओं की सूची बना लें। इसी के साथ ही ग्रामीणों को अवगत करायें कि बच्चों को गर्म पानी ही पिलायें।
जिलाधिकारी ने एसडीएम सगड़ी को निर्देश दिये कि बाढ़ के दृष्टिगत जहाॅ-जहाॅ नाव की आवश्यकता है, वहाॅ पर नाव उपलब्ध करा दें। चिकनहवा बाजार के पास देवारा जदीद ग्राम के रास्ते में पानी भर जाता है, वहाॅ पर भी एक नाव की व्यवस्था सुनिश्चित करें। सभी व्यवस्थाओं को एलर्ट मूड में रखें।
इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने डीपीआरओ, खण्ड विकास अधिकारी हरैया को निर्देश दिये कि जो भी हैण्डपम्प खराब हैं, उसको ठीक करा लें एवं जितने भी हैण्डपम्प बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में स्थापित हैं, यदि उनका बेस नीचे है तो उसको ऊपर करा लें। बाढ़ चैकियों एवं आश्रय स्थलों पर स्थापित शौचालयों को सक्रिय करा दें एवं शौचालयों में दरवाजा आदि की व्यवस्था आज ही सुनिश्चित करा लें। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिये कि बाढ़ के दृष्टिगत आश्रय स्थल बनाये जाने के लिए 100 विद्यालयों का चिन्हांकन कर लें, इसको भी रेडी मूड में रखें। आश्रय स्थल के पास सभी हैण्डपम्पों को चालू हालत में रखें।
उन्होने सीवीओ को निर्देश दिये कि पशुओं का टीकाकरण व चारे की व्यवस्था बाढ़ से पहले कर लें।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व गुरू प्रसाद, उप जिलाधिकारी सगड़ी अरविन्द कुमार सिंह, तहसीलदार सगड़ी बृजेन्द्र उपाध्याय, डीपीआरओ लालजी दूबे, बाढ़ खण्ड के एक्सीयन आदि उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment