.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

मण्डलायुक्त अचानक पहुॅंचे कोविड-19 कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर,दिए निर्देश

कोविड-19 की महामारी के प्रति बरतें पूरी संवेदनशीलता, कन्टेक्ट ट्रेसिंग में न हो कोई लापरवाहीः मण्डलायुक्त

      आज़मगढ़ 21 जुलाई -- मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने जाफरपुर स्थित डायट (जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान) में स्थापित कोविड-19 कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर का मंगलवार को औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने वहाॅं कार्यरत सभी कर्मचारियों के पटल पर जाकर सम्बन्धित से उनके कार्यों के साथ ही अद्यतन स्थिति का जायजा लिया। मण्डलायुक्त ने कहा कि वर्तमान में लगातार पाजीटिव मरीजों की बढ़ रही संख्या को दृष्टिगत रखते हुए कोविड-19 महामारी के प्रति पूरी संवेदनशीलता बरती जाय तथा यह सुनिश्चित किया जाय कि पाजीटिव केस मिलने पर कन्टेनमेंट जोन के बारे में सम्बन्धित उपजिलाधिकारी एवं पुलिस क्षेत्राधिकारी को सूचना तत्काल दे दी जाय। उन्होंने निर्देश दिया कि पाजीटिव मरीज के सम्पर्क में आये लोगों की तत्काल ट्रेसिंग में किसी तरह की कोई शिथिलता और लापरवाही नहीं होनी चाहिए। मण्डलायुक्त श्री पन्त ने यह भी निर्देश दिया कि कन्टेक्स टेªसिंग एवं उनकी सैम्पलिंग हेतु लगाये गये स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग आदि के कर्मचारियों की भी निरन्तर मानीटरिंग की जाय ताकि चूक और लापरवाही की संभावनायें समाप्त हो सकें। उन्होने कहा कि कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर के प्रभावी संचालन हेतु आवश्यकतानुसार संसाधनों के साथ ही स्वास्थ्य, पुलिस, शिक्षा आदि विभागों के कर्मचारियों को बढ़ाया जाय।
      निरीक्षण के समय मुख्य विकास अधिकारी आनन्द कुमार शुक्ला ने कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर के संचालन के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि सेन्टर में स्वास्थ्य, शिक्षा, पुलिस, नगर निकाय के कर्मचारियों की 24 घण्टे शिफ्टवार ड्यूटी लगाई गयी है। किसी भी व्यक्ति की रिपोर्ट पाजीटिव आने पर उसकी सूचना कन्ट्रोल सेन्टर को प्राप्त होती है तथा कन्ट्रोल सेन्टर के माध्यम से सम्बन्धित एमओआईसी, पुलिस विभाग एवं अन्य सम्बन्धित विभागों को इसकी सूचना तत्समय ही उपलब्ध करा दी जाती है, जिससे पाजीटिव मरीज को तत्काल एम्बूलेंस के माध्यम से अस्पताल भेज दिया जाता है तथा संक्रमित व्यक्ति के क्षेत्र को कन्टेनेमेट एकरिया घोषित कर दिया जाता है। मुख्य विकास अधिकारी ने यह भी बताया कि पाजीटिव व्यक्ति के क्षेत्र के अध्यापक एवं आशा को भी इसकी सूचना तत्समय ही भेज दी जाती है तथा उनके माध्यम से पाजीटिव व्यक्ति के परिवार एवं उनके सम्पर्क में आये अन्य लोगों की सैम्पलिंग कराई जाती है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment