.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

पूर्व सांसद ने कहा- मैं मूर्ति पूजा का विरोधी, धर्म के नाम पर बनाया जा रहा लोगों को मूर्ख

पूर्व  सांसद ने आवास पर आये कुछ युवकों के हाथ से रक्षासूत्र को कटवा दिया

कहा लोगों को मंदिर छोड़ शिक्षा के मंदिर में जाकर ज्ञान प्राप्त करना चाहिए

आजमगढ़ : जिले के पूर्व सांसद एवं सपा नेता रमाकांत यादव अपने विवादित बयान से फिर सुर्खियां में हैं। सोमवार को उन्होंने कहा कि मैं मूर्ति पूजा का विरोध करता हूं। लोगों को मंदिर छोड़ शिक्षा के मंदिर में जाकर ज्ञान प्राप्त करना चाहिए। उन्होंने सोमवार को अंबारी स्थित आवास पर आये कुछ युवकों के हाथ से रक्षासूत्र को कटवा दिया। मामला घर से बाहर पहुंचा तो चर्चा का विषय बन गया।
रमाकांत यादव से मिलने के लिए सोमवार को क्षेत्र के 10-12 युवक अंबारी आवास पर पहुंचे थे। पूर्व सांसद ने युवकों के हाथों की कलाई मे बंधे रक्षासूत्र को कटवा दिया। इस बारे में मीडिया ने रमाकांत यादव से बात की तो उन्होंने कहा कि धर्म के नाम पर लोगों को गुलाम बनाया जा रहा है। लोग कब तक धर्म के नाम पर ठगे जाएंगे।
मंदिर में मूर्ति की रक्षा देवता नहीं कर पाते वो हमारी रक्षा क्या करेंगे? मूर्ति पूजा करने वाला कभी डीएम या एसपी बन पाया है? हालांकि उन्होंने युवाओं को शिक्षा के प्रति अग्रसर होने और शिक्षा के मंदिर में जाकर ज्ञान लेने की भी सलाह दी। कहा कि इसी से समाज, देश और व्यक्ति का विकास होगा। ये तभी संभव है जब लोग पत्थर की मूर्ति वाले मंदिर में जाना छोड़ेंगे। युवक भ्रमित न हों इसलिए उनका रक्षासूत्र सूत्र कटवाते हुए शिक्षा के प्रति प्रेरित कर रहा हूं।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment