.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमग़ढ़ : पुलिस के लिए इश्यू बन गया था रिशु को रोकना....

सीएम को ज्ञापन देने पहुंचे थे सारथी सेवा संस्थान के संयोजक 

जानकारी मिलने पर पुलिस हुई सक्रिय, सीआरओ को दिलाया गया ज्ञापन 

आजमगढ़ : मंडलीय जिला चिकित्सालय परिसर में मास्क लगाए कुर्ता-पाजामा पहने खड़े शख्स को देखने के बाद हर किसी ने नजरंदाज कर दिया। हाथ में कागज देख लोगों ने अनुमान लगाया कि कोई अस्पताल आया होगा लेकिन बाद में पता चला कि वह मुख्यमंत्री से मिलकर ज्ञापन देने आए हैं तो पूरा प्रशासन हरकत में आ गया। उन्हें पीछे किया गया तो मीडिया कर्मियों के बीच जाकर खड़े हो गए। कई पुलिस वालों ने तब भी नहीं पहचाना और उन्हें दूर खड़े रहने की हिदायत दी। फिर भी वह नहीं डिगे तो पुलिस वालों ने उन्हें दूर कर दिया। यह सब चल रहा था कि किसी ने चर्चा की कि वह तो सारथी सेवा संस्थान के संयोजक विनीत सिंह रिशु हैं। उसके बाद तो उन्हें मनाने का दौर शुरू हुआ। पुलिस के लोगाें ने कहा कि ज्ञापन दे दें तो उसे सीएम तक पहुंचा दिया जाएगा। उसके बाद भी रिशु देने को तैयार नहीं हुए तो पुलिस की बेचैनी बढ़ने लगी। मामला उससे अागे बढ़ता कि सूचना अधिकारी ने पहुंचकर आश्वासन दिया कि हम उनकी बात को सीएम तक पहुंचवाएंगे, वह सीआरओ को ज्ञापन दे दें। उसके बाद किसी तरह से वह राजी हुए और ज्ञापन का लिफाफा सीआरओ को सौंप दिया। दरअसल वह लोक निर्माण विभाग में कथित गाेलमाल काे लेकर आंदोलित हैं और इससे पहले मामले को गुरुवार को डीएम दरबार तक पहुंचा चुके हैं लेकिन उनका कहना था कि हमारी बात ऊपर तक नहीं पहुंच पा रही है। आरोप है कि विभाग अपने चहेते ठेकदाराें काे लाभ पहुंचाने के लिए शासन की मंशा विरुद्ध कार्य कर रहा है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment